उदयपुर जिले के गोगुंदा में मिला 1 कोरोना मरीज, रेपिड एंटीजन टेस्ट में 24 का लिया सेम्पल

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) उदयपुर में कोरोना का कहर कम हुआ है।कोरोना संदिग्धों के सेम्पल लिए जा रहे है, लेकिन बहुत ही कम मरीज पॉजिटीव आ रहे है। उदयपुर में चिकित्सा टीम ने घर घर सर्वे किया गया। जिसमें फ्लू के मरीज निकल आए। जिनका स्थल पर ही इलाज किया जा रहा है। बारिश के बाद फ्लू के मरीज अस्पताल में आने लगते है। मौसम परिवर्तन से बीमारी बढ़ती है। आपको ज्ञात हो कि कोविड अभीतक खत्म नही हुआ है। बड़ी बीमारी ब्लैक फंगस की दस्तक से लोगों में भय जरूर फैला है, लेकिन ब्लैक फंगस में उन लोगों को ज्यादा खतरा है, जिनको सुगर की बीमारी है।

राज्य सरकार ने लोकडाउन लगया गया उसके बाद में ही कोरोना मरीजो की संख्या में कमी आई है। राजस्थान में आठ जून तक लॉकडाउन लगा है। उसके बावजूद अशोक गहलोत सरकार आगामी 1 जून से लोकडाउन के निर्धारित समय मे बदलाव कर सकती है। देश मे कोरोना संक्रमण कम होने का कारण लॉकडाउन है। लोग घरों से बहुत कम निकलने के कारण मरीज कम हुए है। कोरोना की दुनिया में अब तक 35 लाख लोगों की मौत हो चुकी है। हमे कोरोना को हल्के में नही लेना है। अभी देश मे संक्रमित होने वाले मरीजो से अधिक संख्या कोरोना से रिकवर होने वालों की है। जो सरकार के लिए राहत भरी खबर है।

हालांकि सायरा चिकित्सा अधिकारी आर एस मीणा ने बताया कि गोगुंदा में एक मजावड़ी का मरीज पॉजिटीव मिला है। उदयपुर जिले की सायरा पंचायत समिति के ढोल गांव में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए काढ़ा वितरण किया गया। आयुर्वेद विभाग की और से आयुर्वेदिक औषधालय के डॉ रामलाल सुथार के मार्गदर्शन में ग्राम पंचायत ढोल के सरपंच मोहनलाल,ग्राम रोजगार सहायक भंवरलाल,पंचायत सहायक प्रवीण पालीवाल कंपाउंडर नाथूलाल, लक्ष्मणसिंह और अन्य ग्रामीणों का सहयोग मिला। इस दौरान कोरोना गाइडलाइन एवं लोकडाउन का पालन किया गया। ढोल पंचायत के बडगांव में महेश श्रीमाली के नेतृत्व में घर घर जाकर काढ़ा पिलाया गया। ढोल और बडग़ांव में करीब 300 लोगो को काढ़ा वितरण किया।

उधर पंचायत समिति सायरा में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। स्मार्ट सिटी के सीईओ और नियुक्त पर्यवेक्षक की उपस्थिति में बैठक हुई। बैठक में गर्भवती महिलाओं की जानकारी ली गई। डोर टू डोर सर्वेऔर कोरोना की रोकथाम के लिए कार्मिकों को दिशा निर्देश दिया। इस मौके पर विकास अधिकारी जितेंदसिह राजावत, नायब तहसीलदार हितेश त्रिवेदी आदि उपस्थित थे। गोगुंदा के चिकित्सा अधिकारी राकेश पोरवाल ने बताया कि गोगुंदा में लिया जा रहा रेपिड एंटीजन टेस्ट में 24 सेम्पल लिए गए जिसमे एक भी कोरोना पॉजिटीव केस नही मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *