सूरत एयरपोर्ट पर एक ही दिन 1030 यात्री दर्ज

कोरोना के कहर के बीच स्पाइसजेट एयरलाइंस ने सूरत एयरपोर्ट से सभी उड़ानें स्थगित कर दी थी। एयर इंडिया ने भी सप्ताह में 2-3 दिन एक ही उड़ानें चलाई। इंडिगो ने सप्ताह में तीन दिन दिल्ली-बेंगलुरु की एक उड़ान भरी। लेकिन इसमें यात्रियों की संख्या बहुत कमी थी। लेकिन जैसे-जैसे देश में लॉकडाउन में ढि़ल जा रही है, वैसे ही बाजार खुलना शुरू हो गया है। जिसका सीधा असर कारोबार पड़ा है।

कोरोना संक्रमण घटने से अब पांच उड़ानें रवाना हो रही हैं और पांच सूरत से आ रही हैं। ऐसे में कारोबारियों के लिए अभी खबर है कि सोमवार को एक ही दिन 1030 यात्री दर्ज हुए। जिसमें यात्रियों में 478 सूरत आए और 552 यात्री सूरत से रवाना हुए।

सूरत एयरपोर्ट पर कोरोना में संक्रमण से पहले यात्रियों की संख्या 1.75 लाख प्रतिवर्ष पहुंच गई थी। सूरत एयरपोर्ट पर आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य कर दिया गया है। जिसके कारण सूरत में यात्रियों की संख्या घटी है। कुछ एयरपोर्ट पर दो टीके लगाने वाले यात्रियों को आरटीपीसीआर टेस्ट की सिफारिश नहीं की जाती है। मानसून से पहले सूरत एयरपोर्ट पर रनवे फ्रिक्शन टेस्टिंग की गई। जिसमें रनवे के कुछ हिस्सों से रबर हटाकर नए बिछाए गए। कोरोना संक्रमण घटने से बाहरी कारोबारी सूरत का रूख कर रहे है। जिससे फिर से उद्योग-धंधे की रफ्तार बढऩे की उम्मीद है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *