गोगुन्दा में रिकार्ड तोड़ 108  कोरोना संक्रमित मरीज मिले,लोगो में दहशत का माहौल

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) प्रदेश सहित शहर में लोकडाउन  के बावजूद कोरोना संक्रमित मरीजो  ने सभी रेकार्ड तोड़ दिए।उदयपुर  सहित ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते मरीजो से स्थिती नाजुक बन गई है।कोरोना वायरस   की दूसरी लहर में एक दिन बीतता है तो  एक साल लगता है।सभी लोग भगवान से प्रार्थना कर रहे है कि इस भय ,डर और उदासी का धुंध छटे।इन सबके बीच निडर रहकर और अपने संबल को मजबूत बनाकर यह बुरा वक्त जितना है।मास्क,सेनेटाइजर, दो गज की दूरी का पालन,बार बार हाथ हाथ धोना इत्यादि को अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाना पड़ेगा।
राजस्थान ही नही भारत के सामने महामारी ने चुनोती खड़ी कर दी है।इस महामारी से बचने का कारगर उपाय वैक्सिन ही है।गांवो में बिना किसी हिचक से लगवाना चाहिए।विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीन को लेकर दुविधा पाल रखी है ।परंतु वैक्सीन 90 प्रतिशत सुरक्षा प्रदान करती है ।देश मे पांव पसारती जाती महामारी ने भय और संत्रास का माहौल बना दिया है। हालात विकट है।उखड़ती सांसो के बीच मानवता जूझ रही है किन्तु इस विपरीत परिस्थितियों में जिस तरह हम सब एकजुट होकर लड़ रहे है,उससे भरोसा होता है कि हम जल्द ही जीतेंगे।वैसे भी मेवाड़ ने तो कभी पराजय होना स्वीकार ही नही किया है।सरकार प्रसाशन तमाम सरकारी साधन और मानव संसाधन इस महामारी में लड़ाई में प्राणपण से जुटे हुए है।
बतौर नागरिक हमे भी अपनी जिम्मेदारी को समझना होगा।अस्पताल की व्यवस्था ऐसी है कि लोग वहां जाने से कतराते है।निजी अस्पताल सेवा से मरीज को चूस रहे है।आज उदयपुर सहित ग्रामीण और राज्य में रोगियों का तांता लगा हुआ है।अस्पतालों में अंदर बहार लोग मदद के लिए तरस रहे है।सरकारी तैयारी और व्यवस्था प्रश्नांकित हो गई है।उदयपुर में कोरोना मरीजो की मौत का आंकड़ा हररोज बढ़ता ही रहा है।सांस की प्रक्रिया में ही जीवन तंतु बचता है।कोविड की खतरनाक चोट नाक,गले और फ़ेफ़डे जैसे संवेदनशील अवयवो पर असर डालती है।इसको बचाते हुए प्राणों की रक्षा हर व्यक्तियों को करना है। यह समय मुश्किल है।इस घड़ी को पार कर दिया तो जीवन बच जायगा।शुरुआत के दौर में हमने सावधानिया बरती ,जिससे भारत मे कोरोना का प्रकोप भी सीमित रहा।केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा उठाए गए एहतियाती कदमो और आवश्यक व्यवहार से
भारत में सर्वाधिक जनहानि होने की वैश्विक संस्थाओंऔर विशेषज्ञों की भविष्यवाणी को गलत साबित कर दिया था।इस बार सरकार के तरफ से दी गई छूट और हम सब की लापरवाही की वजह से देश मे सैकड़ो मौते और तीन लाख से उपर संक्रमित मरीज मिल रहे है।कोरोना को लेकर लगातार आ रहे समाचारो से  अपने परिवार को दूर रखने की जरूरत है।सोशल मीडिया और टीवी के समाचारों से मनोवैज्ञानिक रूप से तनाव का कारण होते है।इसलिए हम सकारात्मक नही सोच सकते है।अफवाहों से अपने आप को दूर रखना है।लोग कोरोना संक्रमित मरीजो और मौत का आंकड़ा देखकर घबरा रहे है।जो दिल के कमजोर व्यक्ति है ।उनको समाचारों से दूर ही रखे।राज्य में टीकाकरण का अभियान चलाया जाएगा।इस दौरान हड़बड़ी नही होनी चाहिए।राज्य सरकार को मुहैया किये जाने वाली वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो पाएगी या नही,इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना में लोगो को   पांच लाख की स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराया जायगा।अप्रेल महीना बहुत प्रकोप वाला रहा।
प्रदेश में इस माह में दो लाख चौसठ हजार से उपर  कोरोना संक्रमित मरीज मीले है।सरकार की गाइड लाइन का पालन हर नागरिक को करना होगा।सरकार ने  कड़क नियम लागू किया है।सार्वजनिक स्थल पर बिना मास्क पाए जाने पर पांच सौ रुपए का जुर्माना देना पड़ेगा।विवाह में 31 मेहमानों को बुलाना होगा उससे ज्यादा बुलाए जाने पर भारी दंड भरना होगा।बिना मास्क लगे ग्राहक को सामान बेचने,सार्वजनिक स्थान पर थूकने और सार्वजनिक स्थल पर दूरी बनाकर नही रखने पर दंड भरना होगा।जिले में निजी वाहनों के द्वारा एमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर किसी भी प्रकार की अनुमति नही दी जाएगी।
गोगुंदा  तहसील ,कोटड़ा और उपतहसील सायरा में बाजार बंद है।सब्जी वालो की दुकानें खुली हुई है।सड़क पर वाहन का आवागमन दस प्रतिशत ही है।गांवो में लोग घरों में ही बैठे हुए है।गोगुंदा में आज कोरोना  के 108 मरीज मिले। सायरा चिकित्सा अधिकारी आर एस मीणा ने बताया कि गोगुंदा और   सायरा में आज सीजन के सबसे ज्यादा 108  कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है। गोगुन्दा तहसील में दहशत फैल गई है।इतनी बड़ी कोरोना मरीजो की संख्या देखकर स्वास्थ्य अधिकारी भी चिंतित हो गए है।लोगो ने सावधानी नही रखी तो आगामी दिनों में घर घर कोरोना मरीज मिलेंगे।समाज सेवक राजू लखारा ने बताया कि गांवो में सुनसान माहौल है।सड़के और गलियों में कोई व्यक्ति बाहर नही निकलता दिख रहा है। उल्लेखनीय है कि गोगुन्दा और सायरा पुलिस मुसतेदी से प्रोटोकॉल का पालन करवा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *