सूरत में आप की जड़ों को मिल रही है मजबूती, भाजपा के 60 से अधिक कार्यकर्ताओं ने थामा आप का दामन

आम आदमी पार्टी गुजरात में अपनी पैठ बना में कामियाब होती दिखायी दे रही है। गुजरात विधानसभा 2022 के चुनाव के मदद्देनजर आप अपनी जड़ों को मजबूती प्रदान करने में जुट गई है। सोमवार को अरविंद केजरीवाल के गुजरात दौरे से पूर्व सूरत भाजपा के 60 से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने आप का दामन थाम लिया। सूरत शहर में भले ही भाजपा ने कांग्रेस का सुपड़ा साफ कर दिया होगा, लेकिन आप भाजपा को कदम-कदम पर कड़ी चुनौति देती हुई नजर आ रही है। सूरत महानगरपालिका चुनाव में 27 सीटे जीतने के बाद आप सूरत समेत पूरे गुजरात में ज्यादा सक्रिय हो गई है। भाजपा के गढ़ में सेंध लगाने के बाद शहर में पांव पसारना शुरू कर दिया है।

सूरत महानगरपालिका में नेता विरोधी पक्षनेता आम आदमी पार्टी के धर्मेश भंडेरी ने बताया कि रविवार को राजस्थानी मारू प्रजापति समाज सूरत के अध्यक्ष वशरामभाई प्रजापति और उपाध्यक्ष संजयभाई प्रजापति के साथ परवत पाटिया और लिंबायत क्षेत्र से 60 से अधिक भाजपा के कार्यकर्ता आम आदमी पार्टी में शामिल हुए। लिंबायत सालों से भाजपा का गढ़ रहा है। परवत पाटिया क्षेत्र में प्रवासी राजस्थानी समाज में भाजपा की पैठ है, ऐसे में भाजपा कार्यकर्ताओं का आप की ओर झुकाव भाजपा के लिए खतरे की घंटी के समान है।

भाजपा से दरकिनारा कर आम आदमी पार्टी में शामिल होने वाले कार्यकर्तांओं का सूरत महानगरपालिका विपक्षी नेता धर्मेश भंडेरी, सूरत शहर आम आदमी पार्टी अध्यक्ष महेन्द्र नावडिया, सूरत शहर संगठन मंत्री रजनी वाघाणी, शहर उपाध्यक्ष रमेश परमार के साथ ई.के.पाटिल, दिपक पाटिल की टीम ने स्वागत किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *