गोगुन्दा में भारी उमस के बीच बारिश की धमाकेदार एंट्री

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) उदयपुर जिले के गोगुन्दा में भारी उमस के बीच शनिवार और रविवार को बारिश की बौछार ने वातावरण में बदलाव हुआ। भारी उमस में जोरदार बारिश से गर्मी में राहत महसूस हुई।रुक रुक कर हुई भारी बारिश से जनजीवन को काफी राहत हुई है। तरपाल,पुनावली, गोगुन्दा और आसपास के गांवो में वातावरण में बदलाव देखा जा रहा है।गोगुन्दा के पड़ावली, नरसिहपुरा और वास के निकटवृति गांवो में भारी बारिश हुई है। खेतो ने पानी भर गया है। वातावरण में ठंडक पसर गई है। उमस से लोगो का जीना दुश्वार हो गया था।

प्री मानसून में मक्के और सोयाबीन की बुआई तो किसानों ने कर दी थी,लेकिन उसके बाद बारिश नही होने से किसानो की चिंता बढ़ गई।खेतो में फसल सूखने लगी थी। दो दिन से मेघ गर्जना के साथ बारिश आने से किसानों के चेहरे खिल उठे है।जस वर्ष बारिश 25 दिन देर से आई है।10 से 15 जून के बीच अच्छी बारिश हो जाती है। वावणी समय पर होने से बुलाई भी समय पर हो जाती है। मक्का और सोयाबीन के लिए समय समय पर बारिश की जरूरत रहती है।समय पर बारिश नही होने से भुट्टे में दाने चढ़ते नही है। पानी की कमी के कारण मक्का की फसल सूखने लगती है। बारिश नही होने से किसान चिंतन नजर आ रहे थे।

शनिवार और रविवार को अचानक बदलाव आया। आसमान पर काले बादल छा गए। कुछ ही देर में बादल बरसने की शुरुआत हो गई। कोटड़ा तहसील में बारिश से खेत तरबतर हो गए।झमाझम बारिश से गलियों और खेतों में पानी भर गया। तरपाल में पहले की मक्का थी। बारिश के बाद मुरझाई मक्का वापस उठ खड़ी हुई है। सड़के भी जलमग्न हो गई। बच्चों ने बारिश का जमकर लुफ्त उठाया। बारिश के कारण क्षेत्र के वातावरण में ठंडक पसर गई है। जिसमे गर्मी से परेशान लोगो ने राहत महसूस की।किसान खेतो में हरी मिर्ची का रोप कर रहे है।आगमी दिनों में बारिश सक्रिय रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *