सिविल में मरीज को दो दिन तक नहीं ले गए शौच, कोरोना मरीज की मौत

सिविल आए दिन विवादों के घेरे में आता रहता है, जैसे सिविल विवादों का पर्याय बन गया है। एक ओर कोरोना के बढ़ते मामले और दूसरी ओर सिविल अस्पताल में भर्ती मरीजों की शिकायतों से प्रशासन चिंतित है। अब एक नया मामला सामने आया है, जिसमें सिविल में भर्ती मरीज की मौत के बाद परिजनों ने आरोप लगाया है कि मरीज को दो दिन तक शौच के लिए नहीं जाने दिया गया, जिससे उसकी मौत हो गई। इसकी शिकायत सिविल प्रशासन से की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सचिन निवासी 48 वर्षीय आलोक भाई का गत शनिनार को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर सिविल के कोविड-19 होस्पिटल में भर्ती किया गया था वहां उनकी तबीयत और बिगडऩे के कारण ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया था। जहां सोमवार सुबह उनकी मौत हो गई। परिवार जनों ने आरोप लगाया कि उन्हें दाखिल करने के बाद परिवारजनों से बात हुई थी
परिवार जनों ने सिविल के कर्मचारियां पर आरोप लगाया कि जब से उन्हें ऑक्सीजन पर रखा गया था तब से शौच के लिए भी नहीं ले जाया गया।

उन्होंने बार अस्पताल के कर्मचारियों से शौच को ले जाने को कहा लेकिन वह नहीं ले गए और नहीं टब की व्यवस्था कर दी। 2 दिन तक शौच के लिए नहीं ले जाने के कारण उनकी सेहत और ज्यादा खराब हो गई थी। बाद में उनकी मौत हो गई। परिवारजनों ने विधायक से भी मामले की शिकायत की है। विधायक ने इस बारे में प्रशासन से शिकायत की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *