कोरोना की मार से खमन बेचने का छोडक़र बेचने लगा शराब

कोरोना पर नियंत्रण पाने के लिए राज्य में मिनी लॉकडाउन लगाया गया है। जिसका सीधा असर उद्योग-धंधे पर पड़ा है। खानपान की बिक्री करने वालों की दयनीय हालत है। उनके लिए परिवार का गुजारा चलाना मुश्किल हो गया है। ऐसे कई लोग गलत रास्ते पर भी चल पड़े है। रांदेर पुलिस ने गतरोज रांदेर भक्तिधाम टाउनशीप निकट से 1 लाख रूपए की विदेशी शराब के साथ कुख्यात बूटलेगर कुणाल राजेंद्र पासवाला और खमन बेचने का छोडक़र शराब बेचनेवाला धर्मेश अरीवाला को गिरफ्तार किया है।

पुलिस पूछताछ में पता चला कि कृणाल को वलसाड के पारडी से जीनु नाम के शराब विक्रेता ने शराब दी थी। इस दौरान नीलेश मोदी पुलिस से बचने के लिए पायलोटिंग कर रही था। पुलिस ने धर्मेश के घर के बाहर से 1 लाख कीमत की शराब और कार के साथ बूटलेगर कृणाल को पकड़ा।

गौरतलब है कि धर्मेश सिंगनपुर में खमन की लारी चलाता था। कोरोना के कारणï मिनी लॉकडाउन में खमन नहीं बेच पा रहा था। तभी कृणाल खमन खाने के लिए लारी पर आया तो धर्मेश ने उसे अपनी मजबूरी बतायी। तब उसे कृणाल यह रास्ता बताया। तब से वह इस रास्ते पर चल पड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *