कोरोना: सूरत में राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता बनेंगे सुपर स्प्रेडर!

महाराष्ट्र में कोरोना का संकट गहराता दिख रहा है। जिसके कारण महाराष्ट्र के 8 जिलों में कोरोना वायरस के नए मामले सामने आ रहे है। जिसके कारण सख्त गाइलाइंस जारी की गई हैं। सूरत में कोरोना के मामले दिनोंदिन घटते जा रहे थे, लेकिन मनपा चुनाव में राजनीतिक दलों द्वारा सूरत में कोरोना गाइडलाइंस को ताक पर रखकर खुले में कोरोना गाइडलाइंस की धज्जियां उठायी गई। जिसका खामियाजा आगामी दिनों में आम जनता को भुगतना पड़ सकता है।

21 फरवरी को मनपा चुनाव होंगे और 23 तारीख को मतगणना होगी और जो पार्टी जीतेगी वह जीत का जश्न मनाने विजयी जुलूस निकालेगी। ऐसे में गत कई दिनों से जमावड़ा लगाने वाले राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ता कोरोïना संक्रमित होकर सुपर स्प्रेडर बन सकते है।

सूरत में फरवरी माह में 1 फरवरी 35, 2 को 33, 3 को 36 , 4 को 43, 5 को 31, 6 को 27, 7 को 30 , 8 को 22, 9 को 2 9, 10 को 30, 11 फरवरी 42, 12 को 34, 13 को 4 9, 14 को 31, 15 को 35, 16 को 41, 17 को 43,18 को 3 9, 19 फरवरी 3 9 कोरोना के मामले दर्ज हुए है। सूरत नगर निगम चुनाव घोषित होने से पहले सबे से कम 22 मामले दर्ज किए गए थे।

लेकिन अब चुनाव और शादी के मौसम की शुरुआत के साथ कोरोना फिर से अपना सिर उठा रहा है। गत दिनों सूरत के एक धार्मिक कार्यक्रम में गए दो लोग संक्रमित होने से प्रशासन चौंक उठा था। इसके अलावा हाल में सूरत में जो शादी प्रसंग हो रहे है इसमें भी लोग बिना डरे शामिल हो रहे है। जिससे फिर से कोरोना के मामलों में वृद्धि हो रही है।

गत कई दिनों से सूरत में राजनीतिक पार्टियों द्वारा जोर शोर से प्रचार किया जा रहा है। राजनीतिक पार्टियों की ओर से रैलियां निकाली गई, जिसमें हजारों संख्या में लोग शामिल हुए थे। जिसके कारण आगामी दिनों में इसका खामियाजा के चलते शहर में कोरोना के मामले बढऩे की संभावना है।

जिसके कारण मनपा के स्वास्थ्य विभाग की ओर से घर-घर जाकर सर्दी-खांसी के मरीजïों को खोजकर कोविड टेस्टिंग शुरू की गई है। गौरतलब है कि अभी तक कोई राजनीतिक रैली में शामिल संक्रमित नहीं पाया गया है, लेकिन आगामी दिनों में कोरोना संक्रमित के मामले सामने की संभावना को भी नकारा नहीं जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *