डोडला डेयरी लिमिटेड का आईपीओ कल खुलेगा

प्राइस बैंड 421 रु. से 428 रु. प्रति इक्विटी शेयर के बीच तय

ऑफर बुधवार, 16 जून, 2021 से शुक्रवार, 18 जून, 2021 तक खुला रहेगा

 मुम्बई : डोडला डेयरी लिमिटेड इसका प्रारंभिक पब्लिक ऑफरिंग (“ऑफर”) 16 जून 2021 को शुरू करने वाला है। इस ऑफर का प्राइस बैन्ड प्रति इक्विटी शेयर 421 रूपये से 428 रूपये तक तय किया गया। न्यूनतम 35 इक्विटी शेयर्स के लिए  और उसके बाद 35 इक्विटी शेयर्स के गुणज में बोली लगाई जा सकती है।

इस आईपीओ में का 500 मिलियन रूपये तक के कुल योग का फ्रेश इश्यू और 10,985,444 इक्विटी शेयर्स तक के बिक्री का ऑफर शामिल है। बिक्री के लिए ऑफर में टीपीजी डोडला डेयरी होल्डिंग प्राइवेट लिमिटेड (“इंवेस्टर सेलिंग शेयरहोल्डर्स”) द्वारा 9,200,000  तक के इक्विटी शेयर्स और डोडला सुनील रेड्डी द्वारा 416,604  तक के इक्विटी शेयर्स और डोडला फैमिली ट्रस्ट (“प्रमोटर सेलिंग शेयरहोल्डर्स”) द्वारा 1,041,509 तक के इक्विटी शेयर्स और डोडला दीपा रेड्डी (“प्रमोटर ग्रुप सेलिंग शेयरहोल्डर्स”) द्वारा 327,331 तक के इक्विटी शेयर्स शामिल हैं।

यह ऑफर, सिक्योरिटीज कॉन्ट्रैक्ट्स (रेगुलेशन) रूल्स, 1957 के नियम 19(2)(बी) की शर्तों, यथा संशोधित (“एससीआरआर“), सेबी आईसीडीआर रेगुलेशंस के विनियम 31 के साथ पढ़ें, के अनुसार और सेबी आईसीडीआर विनियमनों के विनियम 6(1) के अनुरूप बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के जरिए उपलब्‍ध कराया जा रहा है जिसमें ऑफर का 50 प्रतिशत से अनधिक हिस्सा पात्र संस्थागत खरीदारों (‘‘क्यूआईबी’’) (‘‘क्यूआईबी हिस्सा’’) को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, हालांकि हमारी कंपनी और विक्रेता शेयरधारक बीआरएलएम के परामर्श से विवेकानुसार क्यूआईबी का 60 प्रतिशत तक हिस्सा एंकर निवेशकों (”एंकर निवेशक हिस्‍सा”) को आवंटित कर सकते हैं। एक-तिहाई एंकर निवेशक हिस्सा घरेलू म्युचुअल फंड्स के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते घरेलू म्युचुअल फंड्स से सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार एंकर निवेशक आवंटन मूल्य पर या इससे ऊपर की वैध बोलियां प्राप्त हों। क्यूआईबी पोर्शन (एंकर निवेशक हिस्‍सा को छोड़कर) का 5 प्रतिशत हिस्सा केवल म्युचुअल फंड्स को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, और क्यूआईबी का बाकी हिस्सा, म्युचुअल फंड्स सहित सभी क्यूआईबी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते ऑफर मूल्य पर या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्त हों। हालांकि, म्‍यूचुअल फंड्स की कुल मांग, क्‍यूआईबी पोर्शन का 5 प्रतिशत से कम रहने पर, म्‍यूचुअल फंड पोर्शन में आवंटन हेतु उपलब्‍ध बाकी इक्विटी शेयर्स, क्‍यूआईबी को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने हेतु शेष नेट क्‍यूआईबी पोर्शन में जुड़ जायेंगे।

आगे, सेबी आईसीडीआर विनियमनों के अनुसार, ऑफर का 15 प्रतिशत हिस्‍सा आनुपातिक आधार पर गैर-संस्‍थागत निवेशकों को आवंटित किये जाने और ऑफर का 35 प्रतिशत से अनधिक हिस्‍सा खुदरा व्‍यक्तिगत निवेशकों को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्‍ध होगा, बशर्ते ऑफर मूल्य पर या इससे अधिक पर उनसे वैध बोलियां प्राप्त हों। सभी भावी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर) को अनिवार्य रूप से एप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्लॉक्ड एमाउंट (‘‘एएसबीए’’) प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेना होगा और इस हेतु, उन्हें अपने बैंक खातों (यूपीआई विधि के जरिए आरआईबी हेतु यूपीआई आईडी सहित) की जानकारी देनी होगी जिसमें संबंधित बोली राशि एससीएसबी या स्‍पॉन्‍सर बैंक, जो भी लागू हो, द्वारा ब्‍लॉक कर दी जायेगी। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के जरिए ऑफर में भाग लेने की अनुमति नहीं है।

इस रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के जरिए उपलब्‍ध कराये जा रहे इक्विटी शेयर्स बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध किये जाने हेतु प्रस्‍तावित हैं।

आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज लिमिटेड और एक्सिस कैपिटल लिमिटेड, ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (”बीआरएलएल”) हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *