उदयपुर जिले के गोगुंदा में विस्फोटक स्थिती, 94 कोरोना संक्रमित मिले

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत)  उदयपुर में कोरोना संक्रमण कहर बरपा रहा है। नित दिन संक्रमित मरीजों और मौतों की संख्या पिछले सभी रिकार्ड तोड़ रही है। इसमें बच्चे भी संक्रमित हो रहे है। टीकाकरण की ओर ध्यान देना होगा। गोगुंदा ,कोटड़ा ,सायरा, झाडोल आदि गांव में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। उदयपुर में ऑक्सीजन की कमी वाले मरीज अस्पताल पहुँच रहे है तो उनको बेड और ऑक्सीजन की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है।

उदयपुर में शवो का अंतिम संस्कार के लिए भी इंतजार करना पड़ रहा है। गांवो में चिकित्सा ढांचा मजबूत नही है। जांच भी आसानी से नही हो पा रही है। गांव -गांव चिकित्सा ढांचा विकसित करना भी अभी किसी आफत से कम नही है। अभी संक्रमण को तत्काल रोकने की जरुरत है।

केंद्र और राज्य सरकार को भी लग रहा है कि कोरोना वायरस की यह दूसरी लहर भी घातक सिद्ध हो रही हैं। असंगठित क्षेत्र की इकाइयों के लिए ऋण मिलना चाहिए। छोटे कारोबारियों के लिए ऋण मुहैया कराया जाय। बैंक इन कारोबारियों को ऋण देने से इंकार नही करे। राज्य सरकार की चिरंजीवी योजना का लाभ लोगों को मिलना शुरू हो गया है। इस योजना के तहत नि:शुल्क उपचार उपलब्ध हुआ है। कोरोना मरीज की बढ़ती तादात से अस्पताल प्रशासन की चिंता बढ़ रही है। वही दूसरी तरफ लोग ठीक होकर डिस्चार्ज लेने वाले मरीजों की संख्या कम नही है।

उदयपुर जिले के गांवो में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप से हालत पतली हो गई है। क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ हैं। घर में लोग कैद है। कृषि संबंधी कार्य के लिए लोग निकलते है। सडक़े सुनसान है। वीकेंड का कर्फ्यू ग्रामीण जनता को राहत जरूर देगा। सोमवार से आगामी दिनों में लोगो को पाबंदियो में दिन काटने पड़ेंगे। इससे कोरोना को हराने में मदद मिलेगी। ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी ओपी रायपुरिया के मार्ग दर्शन में गांवो में घर घर सर्वे के दौरान जांच में किसी भी प्रकार के सिमटन्स मिलने पर डॉक्टर की परामर्श लेने की सलाह दी जा रही है।

सायरा के तरपाल पंचायत में घर घर सर्वे कर कोरोना से बचने और रोकथाम के टिप्स दिए जा रहै है।लोगो को बाहर नही निकलने की सलाह दी जा रही है। मदनलाल मेघवाल ने बताया कि आज रू नंगाजी का गुड़ा में सर्वे किया जा रहा है। उदयपुर से सायरा चलने वाले निजी वाहनों के पहिये थम जाने से रोजगार प्रभावित हुआ है।गोगुन्दा चौराहा पर हररोज सैकड़ों लोगों की आवाजाही से भीड़ रहती थी। लॉकडाउन की वजह से आज चौराहा सुनसान है।

गोगुन्दा से सायरा सडक़ सुबह से शाम तक वाहनों के आवागमन से सडक़ क्रॉस करने में दिक्कत रहती थी। वर्तमान में सडक़ सुनसान है। गोगुन्दा में आज 94 कोरोना मरीज मिले। सायरा चिकित्सा अधिकारी आर एस मीणा ने बताया कि गोगुन्दा और सायरा में कुल 94 कोरोना मरीज मिले है। सभी को होमऐसोलेट किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *