गोगुंदा तहसीलदार ने वास पंचायत की कोर कमेटी को किया निर्देशित,टीकाकरण के लिए दिया जोर

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) उदयपुर शितज़ जिले में कोरोना संक्रमण बहुत कम हो गया गया। कोरोना से निजात मिलने वाली है।लेकिन यह नही समझना है कि कोरोना सदा के लिए चला गया है।हवा में कोरोना के वायरस मौजूद है।हमे सतर्क रहना है। नियमो का पालन करना है।
कोरोना की मुक्ति का एकमात्र संजीवनी उपाय फिलहाल टीकाकरण ही है।जिसके जरिये व्यक्ति को सुरक्षा कवच मिल सके।कोरोना संक्रमित होने के बाद भी इस महामारी से लड़ने की शक्ति जुटाने समर्थ होता है।टीकाकरण व्यक्ति को रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है।कोरोना अब धीरे धीरे अपनी जगह छोड़ने वाला है।लेकिन इस बीमारी से भी घातक और जानलेवा बीमारी म्यूकोरमाएकोसिस है।जिसका इलाज और बचाव दोनों है,लेकिन समय रहते चिकित्सक को बताना जरूरी हो जाता है।उदयपुर में एमबी अस्पताल में कोरोना के मरीज कम हुए है।उसी के साथ म्यूकोरमाएकोसिस यानी ब्लैक फंगस के मरीज बढ़ रहे है।जिसके लिए चिकित्सक विभाग अलर्ट है।ब्लैक फंगस साइनस रोग है। फंगस नाक से होते हुए मस्तिष्क तक पहुँचता है। यह सीधा ब्रेन पर अटैक करता है।हमारे विशेषज्ञ ब्रेन से दवा के जरिये ठीक करने की कोशिश कर रहे है।दवाइयों से ब्रेन से म्युकर को निकालते की पूरी कोशिश की जा रही है।यह खतरनाक बीमारी है।लेकिन सावधानी जरूरी है।उदयपुर जिले के गोगुंदा में ऐसे कोई लक्षण वाला मरीज नही मिला है।गोगुंदा तहसील की ग्राम पंचायत वास में आज पंचायत भवन में गोगुंदा तहसीलदार पीरुलाल जीनगर के द्वारा कोर कमेटी को निर्देशित करते हुए कोरोना वैक्सीन के लिए अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण करवाने हेतु सभी कर्मचारी गण को पाबंद किया गया।कार्यक्रम में पंचायत के सरपंच ,उप सरपंच और वार्ड पंच सहित ग्राम विकास अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *