कोरोना संक्रमित होने के कितने दिनों बाद वैक्सीन लगा सकते है? जानिए और सवालों के जवाब

देश में कोराना की दूसरी लहर कहर बरपा रही है। भारत के हर राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण सरकार चितिंत है। देश के अस्पताल कोरोना मरीजों से भरे पड़े है। देश में रोजाना 3-4 लाख मामले सामने आ रहे हैं। इस बीच सरकार की ओर से 1 मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू किया गया है। सरकार के वैक्सीनेशन को लेकर युवाओं में जोश दिखायी दे रहा है। वैक्सीनेशन सेन्टर पर कतार लग रही है। इस वैक्सीन को लेकर लोगों के मन में कई सवाल उठ रहे हैं। तो चलिए जानते है इन सवालों का स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्या जवाब दिया, जो आपको जानना बहुत जरूरी है।

– कोरोना से संक्रमित होने के बाद कब दिया जा सकता है?
स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार कोरोना संक्रमण के मामले में वैक्सीन का पहला डोजï कोविड से 14 दिन की रिकवरी के बाद दो से आठ सप्ताह के बाद लगाना दी चाहिए। इतने समय के बाद वैक्सीन लेना उचित होता है।

– अगर कोविड -19 के लक्षण होने पर वैक्सीन लेनी चाहिए?
अगर आपको कोविड-19 के लक्षण है तो वैक्सीन लेना उचित नहीं है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार ऐसे लोग टीकाकरण केंद्र में दूसरों को संक्रमित कर सकते हैं। लक्षण दूर होने के कम से कम दो से आठ सप्ताह बाद वैक्सीन लगा जा सकते है।

– अगर वैक्सीन के प्रथम डोज के बाद संक्रमित होने पर दूसरा डोज ले सकते है?
अगर आप वैक्सीन का प्रथम डोज लेनïे के बाद संक्रमित हो जाते है तो दूसरा डोज बिल्कुल ले सकते है। हालांकि कोविड से पूरी तरह से ठीक होने के बाद। रिकवरी के कम से कम दो सप्ताह और ज्यादा से ज्यादा आठ सप्ताह तक राहï देखनी चाहिए।

– वैक्सीन लेने के बाद यात्रा कर सकते है?
विशेषज्ञों के अनुसार जब तक अधिक लोगों को टीका नहीं लगाया जाता है तब तक एकदूजे से मिलना टालना चाहिए। वैक्सीनेशन के बाद वायरस का खतरा कम रहता है। यात्रा से बचना महत्वपूर्ण है। क्योंकि वायरस के नए वेरिएंट का गंभीर खतरा अभी भी है जो हम पर हावी हो सकता है।

– वैक्सीन लेने के बाद भी संक्रमित होने पर किसी और को संक्रमित होने खतरा रहता है?
जी हाँ। वैक्सीन की दोनों डोज लेने के बाद भी कोरोना संक्रमित होते है तो किसी और को भी संक्रमित कर सकते है। वैक्सीन लेने के बाद कोरोना गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य है। खास तौरपर संक्रमित होने पर तत्काल आइसोलेट होना चाहिए और मास्क पहनकर रखना चाहिए।

– वैक्सीन से कोरोना का खतरा टल जाता है?
विशेषज्ञों के अनुसार इस पर अभी तक आगे अध्ययन नहीं किया गया है। हालांकि डॉक्टर अक्सर कहते हैं कि वैक्सीन की दोनों टीके कोविड का स्थायी इलाज नहीं है। हालांकि वैक्सीन कोविड की गंभीरता को जरूर कम कर देता है और इसे अधिक घातक बनने से रोकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *