निष्काम कर्म सेवा संस्थान मदद के लिए आगे आई,गोगुंदा क्षेत्र में दो सौ आईंएलआई और कोरोना कीट दिए

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) उदयपुर जिले के गोगुंदा में लोगो की मदद के लिए निष्काम कर्म सेवा संस्थान द्वारा मदद पहुँचाई जा रही है। क्वारेंटीन परिवारों को उनके घर पर ही जरूरी चीजो  को पहुँचना ही खास मक़सद है। लोकडाउन में लोगो को घरो से निकलना मुश्किल भरा काम है।संस्था को फोन पर सूचना दे दी जाती है। लोगो के घर तक जरूरी मदद पहुंच जाती है। इस वजह से क्षेत्र में संस्था की अहमियत बढ़ गई है। गोगुन्दा सहित क्षेत्र में ऐसे परिवार की संख्या काफी है जो परिवार में अनेक लोग संक्रमित है उनके घर मे आय के कोई अन्य स्त्रोत नही है। एक फोन पर लोगो के घर तक दवाइया या अन्य प्रकार की मदद निष्काम फाउंडेशन कर रही है।


निष्काम फाउंडेशन ट्रस्ट ने सर्दी के समय ठंड में ठिठुरते परिवार के लिए कंबल और महिलाओं-पुरुषों के लिए स्वेटर आदि उनके घर पर पहुँचाया है। मजबूर बेसहारा लोगो की  मदद करना निष्काम फाउंडेशन की पहली प्राथमिकता रही है। गरीब असहाय लोगो को कड़ाके की ठंड से बचाने के लिए संस्था हर समय कर्मशील रहती है।सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले निर्धन परिवार के बच्चों को शिक्षा सामग्री का वितरण हर वर्ष किया जाता है। बच्चों की मदद के लिए संस्था तैयार ही रहती है।किसी भी जरूरतमंद व्यक्ति के फोन पर मदद पहुंचाने वाली संस्था गोगुन्दा, कोटड़ा,सायरा आदि के आदिवासी इलाकों के दुरुस्त गांवो तक मदद दी जा रही है। गांवो में  बीमार और असहाय लोगो की मदद करना ,केलेमेटिज आपदा में मदद करना ,बीमार लोगो को सही मार्गदर्शन कर उनका संस्था के दम पर इलाज कराना जैसे भगीरथ कार्य संस्था के उद्देश्यों में शामिल है।

 

सामाजिक, धार्मिक और स्कूलों में अनेक कार्यक्रमो में संस्था के सदस्य मदद करने के लिए हर समय तैयार रहते है। पढ़ाई में अव्वल आने वाले छात्र छात्राओं को भी संस्था की तरफ से हर तरह की मदद करने का आश्वासन दिया जाता है। निष्काम फाउंडेशन क्षेत्र में कई वर्षों से कार्यरत है। वाट्सअप के माध्यम से सूचना मिलते ही संस्था मदद करने आतुर रहती है।लोकडाउन में लोग घरो से बाहर नही निकल सकते है ऐसे में संस्था के सदस्य लोगो के डोर टू डोर जाकर दवाइयां, सेने टाइजर और मास्क वितरण कर रहे है।निष्काम फाउंडेशन ने ग्रामीण क्षेत्र में अस्पताल जाने में असमर्थ है उनके लिए निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध कराई गई है और यह सेवा आगामी दिनों में भी जारी रहेगी।

निष्कसम कर्म सेवा संस्थान के अध्यक्ष नीलेश सिंघवी ने बताया कि गोगुन्दा ,सेमटाल,ओबरा कला,वणी और मजावड़ी आदि गांवो के आंगनवाड़ी केंद्रों पर निःशुल्क दवाइयां उपलब्ध कराई गई है,जिसका फायदा लोगो को मिल सके।नान्देशमा के डॉ  यशवंत गुर्जर के मार्गदर्शन में सर्दी जुकाम ,बदन दर्द,खासी की दवाइयां करीब दो सौ आईंएल आई  और कोरोना कीट तैयार किए गए है। जो सभी कीट आंगनवाड़ी कार्यकर्ता और स्वास्थ्यकर्मी को दिए गए।जिसका वितरण एनएमएन के सहयोग से घर घर वितरण किया जाएगा।इस अवसर पर नीलेश सिंघवी,पीएचसी के डॉक्टर यशवंत गुर्जर,बबलू बम्बोरी, भरत सिंघवी, ललित जैन सहित अनेक सदस्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

konya escort