लो कर लो बात, सूरत में अब मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए भी लगी कतारे

सूरत में कोरोना मरीजों के परिजनों को पहले इंजेक्शन, अंतिम संस्कार के लिए लाइन लगाने के बाद अब मृत्यु का दाखिला लेने के लिए भी कतार में खड़ा रहना पड़ रहा है। मृतकों के परिजनों के तीन घंटे लाइन में खड़े रहने के बाद मृत्यु का दाखिला मिल रहा है। मृत्यु का दाखिले के लिए लगी कतार इस बात का सबूत है कि कोरोना से मरने वालों की संख्या शहर में ज्यादा है।

आज तक मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए कतार कभी नहीं लगी थी, लेकिन लोगों को मृत्यु प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए सुबह से ही सूरत शहर के अठवा जोन में कतार में देखा गया है। जो कि कोरोना संक्रमण के कारण शहर में होने वाली मौतों सबूत समान है। रांदेर जोन, अठवा जोन, कतारगाम जोन इत्यादि में विभिन्न प्रकार की स्थितियों को देखा जा रहा है। मृत्यु प्रमाण पत्र के बिना बहुत सारी कानूनी प्रक्रिया ठप है। इसलिए मृतक के परिजन मृत्यु प्रमाण पत्र पाने के लिए हाथ-पांव मार रहे हैं।

लोग मृत्यु प्रमाण पत्र लेने के लिए सुबह 8:30 बजे से लाइन में खड़े हैं। आज तक हमने इस तरह कतार में खड़े किसी व्यक्ति को नहीं देखा। इससे आप कल्पना कर सकते है कि कई लोगों ने कोरोना संक्रमण के कारण अपने स्वजनों को खोया है। मृत्यु के बाद मृत्यु प्रमाण पत्र एक बहुत ही महत्वपूर्ण दस्तावेज है इसलिए लोग मृत्यु प्रमाण पत्र निकालने आए हैं। तीन घंटे तक लाइन में खड़े रहने के बाद मृत्यु प्रमाण पत्र मिल रहा है। लाइन में खड़े होने से लोग परेशान दिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

konya escort