बाबा साहब आंबेडकर को उनकी 130वीं जयंती पर किया नमन

शहर में हर साल अंबेडकर जयंती काफी धूमधाम से मनाई जाती है। इस साल देश कोरोना महामारी के संकट से जूझ रहा है। ऐसे में अंबेडकर जयंती अलग तरीके से मनायी गई। शहर में लोगों ने घर में ही दीप जलाकर बाबा साहब आंबेडकर को नमन किया। बुधवार को भारत के पहले कानून मंत्री और भारतीय संविधान के प्रमुख वास्तुकार बाबासाहब भीमराव आंबेडकर को उनकी 130वीं जयंती पर सूरत शहर रिंगरोड पर बाबासाहब आंबेडकरजी की प्रतिमा को समाज के अग्रणी कृणाल सोनवणे, अहिरे गुरूजी, विष्णु जगदेव, विनय मंगले, आकाश अहिरे सहित अग्रणी और कार्यकर्ताओं ने पुष्पाजंलि अर्पित की।

इस अवसर पर कृणाल सोनवणे ने कहा कोरोना के कारण संकट की इस घड़ी में बाबा साहब को याद कर उनके बताए मार्ग पर चलना जरूरी है। समाज के वंचित वर्गों को मुख्यधारा में लाने के लिए उनका संघर्ष एक मिसाल बना रहेगा। आज हम उनके जीवन तथा विचारों से शिक्षा ग्रहण करके उनके आदर्शों को अपने आचरण में ढालने का संकल्‍प ले। डॉ.अंबेडकर ने समतामूलक न्‍यायपूर्ण समाज बनाने के लिए आजीवन संघर्ष किया। समाज के वंचित वर्ग को शिक्षित व सशक्त किया।

बाबा साहेब आंबेडकर का जन्म 1891 में आज ही के दिन मध्यप्रदेश के महू में हुआ था. वर्ष 1990 में उन्हें मरणोपरांत भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्नÓ से सम्मानित किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

child pornchild pornkadıköy masözexxen izlehacklink panelihttps://sohbethattikizlari.net/ manavgat escort manavgat escort bayan belek escort manavgat escort seks hikaye sex hikaye sex hikaye izmir escort