सूरत: कोरोना वैक्सीन के दो टीके लगाने के बावजूद दो एसएमसी अधिकारी हुए कोरोना संक्रमित

देशभर में अब कोरोना के मामलों में दिनोंदिन बढ़ोत्तरी हो रही है। महाराष्ट्र में कोरोना के मामले बढऩे से कई जिलों में फिर से लॉकडाउन जारी किया गया। गुजरात की बात करें तो चुनाव पहले कोरोना मामलों की संख्या घटी थी, लेकिन जैसे ही चुनाव खत्म हुए इसमें वृद्धि हो गई।

गुजरात में वैक्सीनेशन का तीसरा चरण चल रहा है। प्रथम चरण में स्वास्थ्यकर्मियों को टीका लगाया गया था। दूसरे चरण में महानगरपालिका,नगरपालिका अधिकारी और पुलिसकर्मियों को टीका लगाया गया। अब तीसरे चरण में 60 से ज्यादा उम्र के जो गंभीर बीमारी से पीडि़त हो ऐसे लोगों को वैक्सीन लगायी गई।

सूरत में सूरत कोरोना वैक्सीन के दो टीके लगाने के बाद दो और एक टीका लगाने के बाद एक अधिकारी पॉजिटिव होने का मामला सामने आया है। अधिकारियों ने कोविशिल्ड वैक्सीन का टीका लगाया था।

सूरत सिविल अस्पताल के नोडल अधिकारी डॉ. अमित गामित ने कहा कि कोरोना का टीका लगाने के 3 से 6 सप्ताह के भीतर शरीर में एंटीबॉडी बनती है। इसलिए यह आवश्यक नहीं है कि टीकाकरण के बाद भी कोरोनावायरस न हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *