तत्व चिंतन फार्मा केम का आईपीओ 16 जुलाई, 2021 को खुलेगा

मुंबई, : तत्व चिंतन फार्मा केम लिमिटेड (”कंपनी”) जो कि स्‍पेशियाल्टी केमिकल्स बनाने वाली कंपनी है और जो स्ट्रक्‍चर डाइरेक्टिंग एजेंट्स, फेज ट्रांसफर कैटेलिस्ट्स, सुपर कैपेसिटर बैटरीज के लिए इलेक्ट्रोलाइट सॉल्‍ट्स और फार्मास्यूटिकल एवं एग्रोकेमिकल इंटरमीडियरिज व अन्य स्पेशियाल्‍टी केमिकल्स के विविधतापूर्ण पोर्टफोलियो को तैयार करने के कार्य में संलग्न है, 16 जुलाई, 2021 को इक्विटी शेयर्स के अपने आईपीओ (ऑफर”) को लाने का प्रस्ताव दे रही है।

ऑफर का प्राइस बैंड ` 1,073 से ` 1,083 प्रति इक्विटी शेयर के बीच तय किया गया है। न्यूनतम 13 इक्विटी शेयर्स और उसके बाद 13 इक्विटी शेयर्स के गुणकों में बोलियां लगायी जा सकती हैं। ऑफर में कुल `2,250.00 मिलियन तक के इक्विटी शेयर्स का फ्रेश इश्‍यू और `2,750.00 मिलियन का ऑफर फॉर सेल शामिल है, जिसमें अजय कुमार मनसुखलाल पटेल के `233.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, चिंतन नितिनकुमार शाह के `814.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, और शेखर रसिकलाल सोमानी के `730.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, दर्शना नितिनकुमार शाह के `103.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, प्रीति अजयकुमार पटेल के `342.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, अजय मनसुखलाल पटेल एचयूएफ के `342.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, काजल शेखर सोमानी के `110.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, शीतलकुमार रसिकलाल सोमानी के `11.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स, और समीरकुमार रसिकलाल सोमानी के `65.00 मिलियन के इक्विटी शेयर्स शामिल हैं।

यह ऑफर सिक्योरिटीज कंट्रैक्‍ट्स (रेग्यूलेशन) रूल्‍स, 1957, यथासंशोधित, सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (इश्यू ऑफ कैपिटल एंड डिस्क्लोजर रिक्वायरमेंट्स) रेग्यूलेशंस, 2018, यशासंशोधित (”सेबी आईसीडीआर रेग्यूलेशंस”) के साथ पढ़ें, के अनुसार उपलब्ध कराया जा रहा है। यह ऑफर सेबी आईसीडीआर रेग्यूलेशंस के रेग्‍यूलेशन 6(1) के अनुसार बुक बिल्डिंग प्रक्रिया के जरिए उपलब्ध कराया जा रहा है जिसमें ऑफर का 50 प्रतिशत से अनधिक हिस्सा पात्र संस्थागत खरीदारों (”क्‍यूआईबी”) (”क्यूआईबी हिस्‍सा”) को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, हालांकि कंपनी, बीआरएलएम के परामर्श से क्यूआईबी हिस्से का 60 प्रतिशत तक अपने विवेकाअनुसार एंकर निवेशकों को आवंटित कर सकती है। एंकर निवेशक हिस्से का एक-तिहाई घरेलू म्यूचुअल फंड्स के लिए आरक्षित होगा, बशर्ते घरेलू म्यूचुअल फंड्स से वैध बोलियां एंकर निवेशक आवंटन मूल्य पर या इससे अधिक मूल्य पर प्राप्‍त हों। नेट क्यूआईबी पोर्शन का 5 प्रतिशत हिस्सा आनुपातिक आधार पर केवल म्यूचुअल फंड्स को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, और क्यूआईबी पोर्शन का शेष हिस्सा आनुपातिक आधार पर सभी क्यूआईबी बोलीदाताओं (एंकर निवेशकों को छोड़कर), जिसमें म्यूचुअल फंड्स भी शामिल हैं, को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते ऑफर मूल्य या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्त हों।

आगे, ऑफर का 15 प्रतिशत से अन्यून हिस्सा गैर-संस्थागत बोलीदाताओं को आनुपातिक आधार पर आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा और ऑफर का न्यूनतम 35 प्रतिशत हिस्सा सेबी आईसीडीआर रेग्यूलेशंस के अनुसार खुदरा व्यक्तिगत बोलीदाताओं को आवंटित किये जाने के लिए उपलब्ध होगा, बशर्ते उनसे ऑफर प्राइस या इससे अधिक पर वैध बोलियां प्राप्‍त हों। एंकर निवेशकों को छोड़कर सभी बोलीदाताओं को ऑफर में एप्लिकेशन सपोर्टेड बाय ब्‍लॉक्‍ड एमाउंट (”एएसबीए”) के जरिए अनिवार्य रूप से ऑफर में हिस्सा लेना होगा और इस क्रम में उन्‍हें अपने-अपने एएसबीए खाते की जानकारी प्रदान करनी होगी, जिसे सेल्स सर्टिफाइड सिंडिकेट बैंक्स द्वारा ब्लॉक कर दिया जायेगा, या फिर वो यूपीआई मेकेनिज्म के जरिए इसमें भाग ले सकते हैं। एंकर निवेशकों को एएसबीए प्रक्रिया के जरिए एंकर इन्वेस्टर पोर्शन में भाग लेने की अनुमति नहीं है। अधिक जानकारी के लिए, आरएचपी के पृष्‍ठ संख्‍या 312 पर दिये गये ”ऑफर प्रॉसिजर” सेक्शन को देखें।

रेड हेरिंग प्रॉस्‍पेक्‍टस के जरिए उपलब्‍ध कराये जाने वाले इक्विटी शेयर्स बीएसई और एनएसई पर सूचीबद्ध किये जाने के लिए प्रस्तावित हैं।आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज लिमिटेड और जेएम फाइनेंशियल लिमिटेड, इस ऑफर के बुक रनिंग लीड मैनेजर्स (”बीआरएलएम”) हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *