उदयपुर : कोटड़ा ब्लॉक में 72 वा राज्य स्तरीय वन महोत्सव मनाया गया

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत)। उदयपुर जिले के कोटड़ा तहसील में 72वा वन महोत्सव धूमधाम से मनाया गया। जिसमें घर- घर औषधि वितरण योजना का आयोजन किया गया। वन महोत्सव का आयोजन राजकीय एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय कोटड़ा में किया गया, जिसका शुभारंभ कोटड़ा पंचायत समिति प्रधान श्रीमती सुगना देवी खैर ने किया। उपरोक्त कार्यक्रम में सरपंच, जनप्रतिनिधि, समाज सेवी एवं विभिन्न सरकारी विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने भाग लिया।

वन विभाग ने सहायक वन संरक्षक कोटड़ा के ओम प्रकाश सुथार ने बताया कि राज्य सरकार की बजट घोषणा के अनुसार 5 साल में 210 करोड़ के व्यय से 30 करोड़ से ज्यादा औषधीय पौधों का वितरण करने का लक्ष्य रखा गया है और प्रदेश के 1.26 करोड़ परिवारों को 5 वर्ष में तीन बार 8-8 औषधीय पौधे उपलब्ध करवाए जाएंगे। जिसमें अश्वगंधा, कालमेघ, तुलसी एवम् नीम गिलोय के 8-8 पौधे कोटड़ा ब्लॉक की 26 पंचायतो का समावेश है। इस वर्ष व बाकी पंचायतों में अगले वर्ष पौधे पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मुख्य अतिथि ने नीम गिलोय, जिसे अमृता भी कहा गया है। पौधरोपण कर घर घर औषधि योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए सभी को प्रेरित किया। तत्पश्चात मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी जायसवाल ने इस योजना को कोरोना काल में आमजन के स्वास्थ्य हेतु लाभकारी बताते हुए इसे एक सर्वहितकारी स्वास्थ्यवर्धक योजना बताया।

विकास अधिकारी धनपत सिंह राव ने योजना को मूर्त रुप देने में वन विभाग की पूरी टीम को साधुवाद दिया। अंत में बाहर से आगंतुक सभी गणमान्य जनप्रतिनिधियों, समाज सेवियों एवं विभिन्न विभागों से आये सरकारी कार्मिकों का क्षेत्रीय वन अधिकारी विजेंद्सिंह ने धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कार्यक्रम के समापन की घोषणा की। इस आयोजन में वन विभाग के कर्मचारी एवम् अधिकारी कोटड़ा नाका प्रभारी भैरवेन्द्र सिंह, कोटड़ा नर्सरी प्रभारी सुश्री मनीषा निनामा, जुड़ा नाका प्रभारी अर्जुन राम, मामेर नाका प्रभारी हुरमा राम, सुलाओ नाका प्रभारी कमलेश आचार्य, शहजाद खान सहायक वनपाल श्रीमती शारदा, श्रीमती कन्या एवं प्रभुलाल उपस्थित रहे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

konya escort