प्रशासन को कालाबाजारी का डर, घर पर इलाज कराने वाले मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति रोक दी गई

कोविड-19 की दूसरी लहर में सूरत शहर की हालत दयनीय हो गई है। रोजाना कोरोना मरीजों के आंकड़े से प्रशासन को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। पूरे देश सहित गुजरात में भी ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहा है।

सूरत शहर में ऑक्सीजन की कमी को कम करने के लिए केवल एनजीओ के साथ-साथ घर पर इलाज कर रहे मरीजों के लिए ऑक्सीजन की रिफिलिंग रोक दी गई है। शहर में संचालित 32 कोविड सेन्टर को आवश्यक मात्रा में ऑक्सीजन प्रदान की जाएगी।

सूरत शहर में बढ़ती ऑक्सीजन की कमी के बीच अस्पताल में भर्ती मरीजों को ऑक्सीजन की समय पर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए एनजीओ या घर पर इलाज कर रहे मरीजों को ऑक्सीजन का वितरण बंद कर दिया गया है।

सूरत शहर के 25 पंजीकृत कोविड सेन्टर और 7 अन्य कोविड केंद्रों के डॉक्टर भी इससे परेशान थे। क्योंकि अगर ऑक्सीजन उपलब्ध नहीं है, तो समस्याएं पैदा होंगी। लेकिन इन सभी कोविड केंद्रों को आवश्यकतानुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति जारी रहेगी।

सूत्रों के अनुसार मौजूदा स्थिति में घरेलू बाजार के मरीजों को दी जा रही ऑक्सीजन का वितरण काला बाजार के डर से बंद कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

konya escort