व्यापारियों की मांग पर पियूष गोयल ने सोने पर अनिवार्य हॉलमार्किंग को 16 जून से लागू करने की घोषणा की

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट ) ने केंद्रीय उपभोक्ता मामले, वाणिज्य एवं रेल मातृ श्री पियूष गोयल द्वारा सोने के गहनों पर अनिवार्य हॉलमार्किंग लागू करने की तारीख ने 15 जून तक बढ़ाने का स्वागत करते हुए कहा है की इससे देश भर के स्वर्ण ज्वैलर्स को सोने की प्रत्येक वस्तु पर अनिवार्य हॉलमार्किंग के कार्यान्वयन के लिए तैयार होने का अवसर मिलेगा। इससे पहले इसे 1 जून 2021 से भारत में लागू किया जाना था।

कैट एवं अन्य संगठनों के आग्रह पर गोयल ने 16 जून से लागू होने वाले इस नियम की क्रियानवयन के लिए भारतीय मानक ब्यूरो एवं जेवेलरी संगठनों के चुनिंदा व्यापारी नेताओं की एक समिति गठित की है को 16 जून से देश भर में हॉलमार्किंग के सरल क्रियान्वयन एवं अन्य गतिरोधों को बातचीत के द्वारा आगामी 15 दिनों में समाप्त कर हॉलमार्किंग लागू करने का मार्ग प्रशस्त करेगी। गोयल ने यह घोषणा कल शाम बीआईएस द्वारा आयोजित एक वेबिनार में कैट एवं अन्य ज्वेलरी संगठनों के साथ हुई विस्तृत बातचीत के बाद की।

कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.सी.भरतिया एवं राष्ट्रीय महामंत्री  प्रवीन खंडेलवाल ने गोयल को हॉलमार्क की तिथि बढ़ाने एवं समिति के गठन को एक सकारात्मक कदम बताते हुए कहा की देश का व्यापारिक समुदाय भारत में बेचे जाने वाले सामान की प्रौद्योगिकी और उन्नयन को अपनाने के लिए तैयार है क्योंकि इससे सरकार, व्यापारियों और उपभोक्ताओं के बीच आपसी विश्वास बेहतर होगा।

उन्होंने कहा की वर्तमान समय में ऐसे कानूनों, नियमों और विनियमों की आवश्यकता है जो भारत में व्यापार की जमीनी हकीकत के अनुकूल हों ताकि व्यापारियों को आसानी से क़ानून एवं नियमों की पालना करने में सहायता मिले। दोनों व्यापारी नेताओं ने घरेलू व्यापार के सामने आने वाले विभिन्न मुद्दों को हल करने में श्री गोयल के सकारात्मक और दृढ़ दृष्टिकोण की सराहना की और आश्वासन दिया कि कैट ऑल इंडिया ज्वैलर्स एंड गोल्डस्मिथ फेडरेशन (एआईजेजीएफ) के सहयोग से देश में हॉलमार्किंग केंद्रों को बढ़ाएगा। पूरे भारत में करीब 4 लाख ज्वैलर्स हैं जो बड़ी संख्यां में स्थानीय कारीगरों को रोजगार देकर उनको आजीविका कमाने का अवसर देते हैं।

कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) की गुजरात इकाई के अध्यक्ष प्रमोद भगत ने कहा कि कैट एवं और अन्य संगठनों के सुझाव को स्वीकार करते हुए गोयल ने बीआईएस के महानिदेशक प्रमोद तिवारी को संयोजक बनाया है। वहीँ उपभोक्ता मामले मंत्रालय की अतिरिक्त सचिव निधि खरे और कैट के प्रतिनिधि पंकज अरोड़ा एवं श्रीमती रेणु शर्मा सहित अन्य ज्वैलर्स एसोसिएशन , हॉलमार्किंग सेंटर एसोसिएशन आदि के प्रतिनिधियों को भी समिति का सदस्य बनाया है। समिति तुरंत प्रभाव से अपना काम शुरू करेगी और 15 जून से पहले आपसी बातचीत के आधार पर हॉलमार्किंग के क्रियान्वयन के रोडमैप को बनाएगी।

गोयल ने मीटिंग को सम्बोधित करते हुए स्‍पष्‍ट रूप से कहा कि वैश्विक व्यापार में भारत की हिस्सेदारी बढ़ाने के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन को आगे बढ़ाते हुए और उपभोक्ताओं को सोने के गहनों की सर्वोत्‍तम शुद्ध क्वालिटी उपलब्ध कराने के लिए सोने के गहनों पर हॉलमार्क लगाने से बेईमानी का खात्मा होगा और भारत में सोने के आभूषणों में दुनिया के सर्वोत्तम मानक होंगे। उन्होंने आभूषण व्यापारियों से तत्काल हॉलमार्किंग पंजीकरण लेने का आग्रह किया और यह स्पष्ट किया कि अनुपालन तिथि को और आगे नहीं बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार घरेलू व्यापार को बढ़ावा देने के लिए हर कदम उठाने के लिए प्रतिबद्ध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *