उदयपुर जिले के गोगुन्दा में कोरोना की स्थिती यथावत, आज फिर 44 मरीज संक्रमित

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) उदयपुर में दैनिक कोरोना मरीजो का आंकड़ा एक हजार पार पहुँच गया तो कोरोना संक्रमितों की मृत्यु भी हुई है। सोमवार लोकडाउन लगने के बाद पुलिस आज भी शहर में मुस्तेद नजर आई। देश मे चार लाख से ऊपर नए मामले सामने आने के बाद सोमवार को शाम तक
साढ़े तीन लाख से ज्यादा मामले सामने आए। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि कोरोना संक्रमित मरीज सैकड़ो की तादात में कम हो रहे है।देश मे वैक्सिन को अंतिम सुरक्षा कवच में देखा जा रहा है। गौरतलब है कि गोगुंदा और सायरा में दो दिन से   कोरोना मरीजो की स्थिती  में कोई ज्यादा कमी नही आई है।लोकडाउन के बाद किस तरह की स्थिती का निर्माण होगा। उसका पता निष्कर्ष आगामी दिनों में निकलेगा।
वास गांव ने लोग पैदल जाते हूए
सायरा चिकित्सा अधिकारी आर एस मीणा ने बताया कि आज फिर 44 संक्रमित मरीज मिले है। जो कल और आज में समानता है।देखना यह है कि लोकडाउन के बाद लोगो को फायदा होगा। जल्द ही हमारा क्षेत्र कोरोना को भगाने में सफल होगा। राजस्थान में 32 जिलों में टीकाकरण का कार्य युद्ध स्तर में चल रहा है।देश मे महामारी ही नही मार रही है,गरीबी भी मार रही है। बारह महीने से नॉकरी,-धंधा चौपट हो गया है।देश मे लाखो लोग बेरोजगार घूम रहे है।
दुनिया का सबसे बड़ा वैवसीन उत्पादक देश भारत अपनी वैवसीन खोजने के बाबजूद बड़ी आबादी को टीके का सुरक्षा कवच नही दे पाया। ऑक्सीजन को लेकर देश मे राजनीति हो रही है। भारत सहित गरीब देशो में वैवसीन की भारी किल्लत के कारण जीवन और अर्थव्यवस्था खतरे में है। कोरोना में स्कूल कॉलेज बन्द होने के कारण बच्चों में लिखने की आदत छूट गई है। पढ़ाई ऑनलाइन हुई है,जब से बच्चों की अंगुलिया कम्प्यूटर या मोबाइल की पेड़ पर मजे से तो थिरकती है।लेकिन हाथ मे कलम पकड़ना बच्चों को ठीक नही लगता है। बच्चे पढ़ाई के मामले में आलसी हो रहे है।बच्चे सारे दिन टीवी और मोबाइल पर रहते है।
उदयपुर जिले के गोगुंदा में लोग लोकडाउन का पालन करते हुए घरो में रह रहे है।वास में लोग घरों में रहकर लोकडाउन का पालन किया।नाहरसिंह ने बताया कि वास और आसपास के गांवो में बिलकुल शांति है।किराना की दुकाने सब्जियां की दुकान और दूध डेयरी के अलावा मिष्ठान भंडार,कपड़े और दर्जी की दुकानें बंद है।गोगुन्दा चोराहा पर हर समय लोगो की आवाजाही रहती थी।वहां पर 11 बजे के बाद पूर्ण रूप से लोकडाउन का पालन हो रहा है।सायरा,जसवंतगढ़,तरपाल,सेमड़,भानपुरा और कोटड़ा तहसील के देवला आदि गांव के बाजारों में रौनक गायब  हो गईं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

konya escort