सोशल मीडिया पर सिर्फ पोस्ट करने से डिजिटल मार्केटिंग नहीं होता, डिजिटल मार्केटिंग यानि हर प्रकार का प्रोपर कम्युनिकेशन

चैंबर में आयोजित डिजिटल मार्केटिंग सेमिनार में फोरम मारफतिया ने दी जानकारी

सूरत। शनिवार को दी सदर्न गुजरात चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री द्वारा, सूरत के नानपुरा स्थित समृद्धि भवन में 20 मार्च 2021 को डिजिटल मार्केटिंग पर सेमिनार का आयोजन किया गया था। डिजिटल मीडिया मार्केटिंग ट्रेनर, कोच और पब्लिक स्पीकर फोरम मारफतिया ने ऑनलाइन व्यापार विकसित करने के लिए रणनीतियों और फेसबुक और इंस्टाग्राम का उपयोग करते समय क्या नहीं करना है इसकी जानकारी दी।

फोरम मारफतिया ने बताया कि सिर्फ सोशल मीडिया पर पोस्ट करने से डिजिटल मार्केटिंग नहीं होती है। डिजिटल मार्केटिंग के लिए लक्ष्य आधारित उपभोक्ता / ग्राहक और विश्लेषण महत्वपूर्ण पहलू है। मार्केटिंग यानि हर प्रकार का प्रोपर कम्युनिकेशन। इसलिए आपको उत्पाद के बारे में उचित कन्टेन्ट लिखना होता है। कंटेंट को इस तरह से लिखना होता है कि उत्पाद के माध्यम से लोगों की समस्या का समाधान हो। सामग्री के माध्यम से ग्राहक को यह समझाने के साथ कि आपका उत्पाद दूसरों से अलग कैसे है। किसी उत्पाद का मूल्य बढ़ाने के लिए उसे विभिन्न तरीकों से दिखाना होगा। इसके अलावा ग्राफिक्स या रंगों और शॉर्ट्स में शीर्षक या टैगलाइन बनानी पड़ती है।

उन्होंने आइडियल ग्राहक अवतार को समझने के लिए सोशल मीडिया पर उपलब्ध प्लेटफार्मों के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने कहा सभी प्लेटफ़ॉर्म स्वतंत्र हैं, इसलिए हर जगह बाजार की आवश्यकता नहीं है। पायोनीर प्लेटफॉर्म फेसबुक है और भारत में 250 मिलियन से अधिक लोग फेसबुक से जुड़े हैं। जिनमें से 70 फीसदी मेल खाते हैं। जबकि दुनिया भर में 2.27 बिलियन लोग यानी 56 फीसदी वैश्विक आबादी फेसबुक से जुड़े हुए हैं। इसलिए फेसबुक बीटीबी और आयात-निर्यात कारोबार के लिए सबसे अच्छा मंच है। उन्होंने फेसबुक बिजनेस पेज, फेसबुक इवेंट्स, फेसबुक ग्रुप्स, बीटीसी के लिए फेसबुक मार्केटप्लेस और ई-कॉमर्स के लिए फेसबुक शॉप्स के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने आगे कहा कि डिजिटल मार्केटिंग के लिए सोशल नेटवर्किंग प्लेटफार्मों का उपयोग किया जा सकता है। लिंक्डइन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल बीटीबी के साथ-साथ विदेशों में भी किया जाना चाहिए। इंस्टाग्राम प्लेटफॉर्म का उपयोग व्यवसाय के लिए भी किया जा सकता है। इंस्टाग्राम प्लेटफॉर्म पर 68 प्रतिशत अकाउंट महिलाओं के होते हैं और केवल एक विज्ञापन को 21 बार दिखाया जा सकता है। उन्होंने व्यवसाय विकास के लिए गुगल और युट्यूब प्लेटफार्मों के उपयोग पर भी विस्तार से बताया।

चैंबर के मंत्री निखिल मद्रासी ने स्वागत भाषण दिया और कोषाध्यक्ष मनीष कापडिया ने प्रासंगिक विधि की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *