सूरत

प्रकृति से भी मिलता है रेडिएशन : डॉ. नीलम गोयल

भारत की परमाणु सहेली ने की मालवाव गाम लेउवा पटेल समाज के 3000 लोगों के साथ सेमिनार

सूरत, मालवाव गाम लेउवा पटेल समाज के सम्मान समारोह कार्यक्रम में डॉ. नीलम गोयल ने समाज के लगभग 3000 लोगों को परमाणु ऊर्जा विषय पर जागरूकता अभियान के दौरान भावनगर में आने वाले मिठीविरदी परमाणु बिजलीघर व सूरत में 500 500 मेगावाट के स्मार्ट माड्यूलर रिएक्टर की विस्तृत जानकारी दी। परमाणु सहेली ने बताया कि हमारे देश में परमाणु ऊर्जा के प्रति लोगों में सही जानकारी नहीं है, साथ में इस विषय को लेकर कई भ्रांतियां है। डॉ. नीलम गोयल ने बताया कि लोगों में परमाणु ऊर्जा को लेकर एक बहुत बड़ी भ्रांति कि परमाणु बिजलीघर से बहुत सारा विकिरण निकलता है, यह सत्य नहीं है।

प्रकृति से ही हमें हर रोज 240 मिलीरेम रेडिएशन डोज मिलती है जो हमारे जीवन का हिस्सा बन चुकी है। हम जो खाना खाते हैं, सूर्य की रोशनी में रहते हैं, दूध पीते हैं, फल खाते हैं, सब्जी खाते हैं, घर में रहते हैं, मोबाइल प्रयोग करते हैं, टेलीविजन देखते हैं, रेडियो सुनते हैं, हवाई जहाज में यात्रा करते हैं, इत्यादि इन सभी से हमें रेडिएशन मिलता है। एक बार के एक्स-रे करवाने से 20 मिलीरेम की रेडिएशन डोज मिलती है। इसी प्रकार एक बार के सिटी-स्कैन करवाने से 5000 से 20,000 मिलीरेम की रेडिशन डोज मिलती है। परमाणु बिजली घरों से आस-पास के क्षेत्रों के जन सामान्य को मात्र 2 मिलीरेम की रेडिएशन डोज मिलती है, जो कि नगन्य है।

परमाणु सहेली ने बताया कि आम से लेकर ख़ास जन में परमाणु बिजलीघाओं के प्रति व्याप्त भ्रांतियों को दूर कर जन सामान्य में परमाणु ऊर्जा के प्रति सकारात्मकता का वातावरण कायम करना होगा। सेमीनार में उपस्थित सभी ने बहुत गहराई से विषय को समझा व परमाणु सहेली की इस मुहीम में एकसाथ होने का वादा भी किया। सभी ने प्रतिज्ञा ली कि परमाणु विद्युत ऊर्जा उत्पादन की योजनाएं उनके क्षेत्र में या गुजरात में कहीं भी आएंगी तो इनके सफल क्रियान्वयन में सभी अपना नैतिक समर्थन देंगे। इसके साथ कार्यक्रम में पधारे अध्यक्ष नानूभाई वानानी पूर्व शिक्षा मंत्री,गुजरात ने परमाणु सहेली के प्रयासों की सराहना की और कहा कि परमाणु सहेली द्वारा दी गई जानकारी सटीक और सत्य है और इससे भावनगर का ही नहीं समस्त गुजरात व समस्त भारत का विकास निश्चित है।

हमें इस विषय को समझना होगा और परमाणु सहेली डॉ. नीलम गोयल द्वारा इस चिंगारी की लौ को हर एक आम से लेकर खासजन तक पहुंचा कर हमारे क्षेत्रों में बढ़ते हुए प्रदूषण और प्रकृति के असंतुलन को भी इस तरह से संभालना होगा। कार्यक्रम में पधारे युवा संगठन के अध्यक्ष हंसमुख के मांगूकिया, बालाभाई जी मांगूकिया, हंसमुख बी मांगूकिया, भरत एम मांगूकिया, मनीष के मांगूकिया, भिखूभाई मांगूकिया, रविभाई मांगूकिया और हरीशभाई मांगूकिया आदि के साथ सभी वरिष्ठ लोगों ने भारत की परमाणु सहेली द्वारा चलाए जा रहे जन-जागरूकता कार्यक्रम का पूर्ण ह्रदय के समर्थन किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button