शहर के युवाओं ने पेश की मानवता की मिसाल

 

राह में पड़े गम्भीर बीमार वृद्ध की मदद

रात भर अस्पताल में ही सोए वृद्ध की खातिर की

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत)
समय पर अगर मदद नहीं मिलती तो शायद एक बुजुर्ग की मौत हो जाती। लेकिन ऐसा होने से पहले ही फरिश्ते के रूप में शहर के सेवा भावी युवा प्रतीक सिंह देवड़ा, मैत्री मंथम की दामिनी वैष्णव, चेतन सालवी और विकास ने मानवता का फर्ज निभाते हुए बुजुर्ग को अस्पताल पहुंचाया। उनका इलाज करवाया यहां तक की पूरी रात चारों ही लोग अस्पताल में ही रुके।

मानवता की मिसाल को पेश करता यह मामला उदयपुर का है दरअसल शहर के युवा प्रतीक सिंह देवड़ा चेतक से अपने घर की ओर जा रहे थे तभी कोर्ट चौराहे पर उन्हें एक वृद्ध दिखाई दिए, जिनके शरीर पर काफी चोट के निशान थे। हालत बेहद ही खराब थी प्रतीक ने मदद के लिए काफी फोन लगाएं। तब जाकर मैत्री मंथन संस्थान से दामिनी वैष्णव, चेतन सालवी और विकास मौके पर पहुंचे। ऑटो की मदद से बुजुर्ग को एमबी हॉस्पिटल ले जाया गया उसके बाद जरूरी कागजी कार्रवाई कर सबसे पहले ड्रेसिंग करवाई, और फिर एक्स-रे, कोविड टेस्ट,टेस्ट शुगर, ईसीजी, एचआईवी और जरूरी जांच करवा कर अस्पताल में भर्ती करवाया। लेकिन सेवाभावी इन चारों ही लोगों ने उन्हें छोड़कर जाने की बजाय रात अस्पताल में ही रुकने का फैसला लिया और पूरी रात अस्पताल में रहकर बुजुर्ग की देखभाल की।

प्रतीक सिंह देवड़ा ने बताया कि बुजुर्गों की हालत अब थोड़ी सही है, उन्हें ड्रिप लगाई गई है। मैत्री मंथन संस्थान की दामिनी का कहना है कि बुजुर्ग के परिवार का पता लगाने की कोशिश की जा रही है, जिससे कि इन्हें इनके परिवार तक पहुंचाया जा सके और अगर इनका कोई परिवार नहीं है तो कोशिश की जाएगी कि ने कहीं आसरा दिलाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *