प्रादेशिक

सायरा क्षेत्र में मवेशियों में तेजी से फैल रहा है खुरपका रोग

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत)। उदयपुर जिले के गोगुन्दा तहसील के सायरा पंचायत समिति के अनेक गांवों में खुरपका रोग के लक्षण देखने को मिल रहे है। सायरा के पुनावली गांव में करीब चालीस घरों में मवेशियों को लगने वाला रोग खरवा के लक्षण दिखाई दिए है। बारिश और बदलते मौसम के दौरान पशुओं में फैलने वाला खरवा रोग से पशुपालको को चिंता खाए जा रही है।इसके उपरांत पशुपालन विभाग ने कवायत तेज कर दी है।

खुरपका और मुहपका रोग तेजी से पशुओं में फैल रहा है।विषाणु जनित रोग से पशुओं का खाना पानी भी बंद हो जाता है।मुह में जीभ पर और तलवे के उपर रोग के लक्षण साफ दिखाई देते है। इस रोग को ध्यान में रखकर पशुपालन विभाग अलर्ट हो गया है। मानसून के सक्रिय होते ही यह रोग बढ़ जाता है।हर वर्ष इस बीमारी की रोकथाम के लिए सरकार उचित कदम उठाती है। खुरपका और मुहपका रोग जो कि पशुओं में फैलने वाली घातकी बीमारी है। खरवा रोग से हर वर्ष पशुओं की मौत होती है। विभाग के पास उपरोक्त बीमारी के लिए टीका और मुह के अंदर लगाने के लिए दवाइयों भी उपलब्ध है। पशुओं के मुह से लार टपकना और जीभ और तलवे पर छालों के उभरने से घास भी नही खा सकती है। जबकि पानी पीना भी दुष्कर हो जाता है। दूध देना भी मवेशी कम कर देता है। सबसे ज्यादा बछड़ो पर प्रभाव पड़ता है। इसमें पशुओं से दूध निकालने के बाद और पहले हाथ साबुन से धोने चाहिए। स्वच्छ और बीमार पशुओं को अलग रखना चाहिए।

खरवा की रोकथाम के लिए प्रशासन अलर्ट है। उसके लिए टीके लगाने का कार्य भी चल रहा है। घर घर फैलती इस बीमारी के लिए पशुओं को अलग रखा जाए जिसके कारण स्वच्छ पशु रोग की चपेट में नही आ सके।खुरपका संक्रमण रोग है।यह गाय, भेस, बकरी आदि पशुओ में हो सकता है। बचाव ही उपचार है कि तर्ज पर काम करना होगा। सायरा के अनेक गांवो में पशुओ में खरवा रोग फेल रहा है।पुनावली में सभी घरों में प पशु खुरपका की चपेट में है। पुनावली के देवीलाल पालीवाल ने बताया कि यह रोग पुनावली,सामल ,ढोल,जालमपूरा आदि गांवो में पशुओ को बीमारी लगी है। जिससे मवेशी खाना भी नही खा सकता है।

इनका कहना है

मवेशियों में खुरपका मुहपका की बीमारी हुई है। जिस घर मे मवेशी बीमार है। उनका उपचार किया जा रहा है। वैक्सिन उपलब्ध नही है। जिसके चलते पाउडर और लगाने की दवा से इलाज किया जा रहा है। पशु मालिको को सावधानी रखने के निर्देश दिए है।
डॉ साधना
पशु चिकित्सक,पुनावली

हमारे पास खुरपका की वैक्सिन उपलब्ध नही है। हमारी टीमें पशुओं के उपचार में लगी हुई है। पशुओं की देखभाल के लिए पशु मालिको को समझाया जा रहा है।चारे पानी की अलग व्यवस्था करने और जिस पशुओ को खुरपका की बीमारी है। उन मवेशियों को अलग रखने के लिए चिकित्सा अधिकारी बता रहे है।पशुओं की वैक्सिन राज्य सरकार उपलब्ध नही कराती है।यह केंद्र सरकार के जिम्मे है। केंद्र हमे वैक्सीन उपलब्ध नही कराने के कारण टिकाकरण नही हो रहा है।
डॉ ओम साहू
डिरेक्टर पशुपालन विभाग,उदयपुर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button