प्रादेशिक

गोगुन्दा उपखंड अधिकारी को फर्जी हस्ताक्षर कर प्रकरण की पुनः जांच करने का सौंपा ज्ञापन,पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप मदद मांगी

उदयपुर ( कांतिलाल मांडोत )। उदयपुर के गोगुन्दा तहसील के सायरा थाना क्षेत्र के पुनावली गांव के गोपाल पालीवाल ने उदयपुर पुलिस अधीक्षक को फर्जी हस्ताक्षर करने की जांच कर उनके खिलाफ कार्यवाई करने की मांग की है।पुनावली निवासी लोगरीबाई बनाम शंकरलाल का 31-3-2022 को फैसला हो चुका है।पूर्व में एक वाद चल रहा था।जिसकी प्रकरण संख्या 2021/40 है।

तत्कालीन एसडीएम नीलम लखारा ने हाईकोर्ट के फैसले की पालना करते हुए जांच कर नामांकन खोल दिया था।पचास वर्ष से अपने हक की लड़ाई लड़ रही लोगरीबाई के पक्ष में हाईकोर्ट ने फैसला दे दिया। इन पचास वर्षों में अपनी रकम बेचकर केस लड़ती रही। हाईकोर्ट ने लोगरीबाई के पक्ष में फैसला हो गया। उपरोक्त फैसले के वाद के विरुद्ध प्रतिवादी ने उपखंड अधिकारी को एक आपत्ति बाबत पुनः सुनवाई करने और पूर्व निर्णय को खारिज करने की अपील की है।

ज्ञापन में आपत्ति पेश की गई हैं। उसमें प्रार्थी गोपाल के हस्ताक्षर नही है।फर्जी हस्ताक्षर किए गए है। वकालत पत्र में भी फर्जी हस्ताक्षर कर अधिवक्ता को पैरवी करने हेतु नियुक्त किए गए है। वाद और वकालत पत्र पर प्रार्थी के फर्जी हस्ताक्षर नाथूलाल पिता पन्नालाल ने किए है। प्रार्थी गोपाल ने न्यायालय संबंधी किसी भी दस्तावेज पर हस्ताक्षर नही किये है।

क्रम संख्या 1 में और अनवाद में वर्णित भूमि पर मुझ प्रार्थी लोगरीबाई पत्नी भेरूलाल भगवती पुत्र भैरुलाल अपने हिस्से अनुरूप काबिज है।नाथूलाल पिता पन्नालाल द्वारा मेरी जमीन हड़पने के लिए मेरे नाम से तैयार किये गए दस्तावेज उसके पास है। वो दस्तावेज जब्त कर उनके आरोपी के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की है।

उनके खिलाफ कार्यवाही कर जल्द उनके पास हस्ताक्षरसुदा दसतावेज प्राप्त कर अभियुक्त के खिलाफ कानूनी कार्यवाई करने की मांग पुलिस अधीक्षक से की गई है। अभियुक्त के खिलाफ कठोर कार्यवाई की मांग पुलिस अधीक्षक से की है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button