सूरत

सूरत : एम्ब्रोयडरी उद्योग में जॉबवर्क की कमी से ज्यादातर यूनिट बंद

लग्नसरा का मौसम होने के बावजूद फिनिश्ड फेब्रिक्स की ग्राहकी पर ब्रेक लगने से एम्ब्रोयडरी उद्योग में भी मंदी का माहौल है। कपड़ा व्यापारियों ने तैयार किया स्टॉक नहीं बेचे जाने से अब वे नया जॉबवर्क नहीं दे रहे है। जिससे सिर्फ 15 फीसदी एम्ब्रोयडरी यूनिट शुरू है।

एम्ब्रोयडरी उद्योग सूत्रों के मुताबिक लग्नसरा के मौसम में मल्टीहेड और सिक्केन्स दोनों क्वॉलिटी के एम्ब्रोयडरी वर्क की डिमांड होने से कपड़ा व्यापारियों ने बड़े पैमाने पर स्टॉक करके रखा था। हालांकि कुछ दिन तक व्यापार अच्छा रहने के बाद ब्रेक लग गया, जिससे बड़े पैमाने पर स्टॉक पड़ा हुआ है। जिसके कारण व्यापारियों ने नए जॉबवर्क पर ब्रेक लगाई है। जिसका असर एम्ब्रोयडरी इंडस्ट्री पर पड़ा है।

सूरत में करीबन डेढ़ लाख एम्ब्रोयडरी मशीनें है, जिसमें से हाल सिर्फ 15 फीसदी यूनिट के पास ही पर्याप्त जॉबवर्क है। बाकी के यूनिटों में जॉबवर्क के अभाव में एक पाली में काम चल रहा है। अथवा तो बंद जैसी हालत में है। टेक्सटाइल एम्ब्रोयडरी जॉबवर्क एसोसिएशन,

सूरत के प्रमुख हितेश भिकडिया ने बताया कि लग्नसरा की मौसम होने के बावजूद यूपी, बिहार और दिल्ली में से ऑर्डर कम मिलने से कारोबार ठप्प है। आम तौरपर अप्रेल मई माह में एम्ब्रोयडरी यूनिटों में पर्याप्त जॉबवर्क होता है, लेकिन इस साल सिर्फ 15 फीसदी यूनिटों के पास पर्याप्त ऑर्डर है। बाकी के यूनिटों में जॉबवर्क नहीं होने से बंद के हालत में है। अगले दिनों में लग्नसरा की खरीदी निकलेंगी तब एम्ब्रोयडरी उद्यमियों को जॉबवर्क मिलने की उम्मीद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button