बेरोजगार चित्रकारों ने आर्थिक शोषण के खिलाफ उठाई आवाज,भारतीय कलाकार संघ ने सौंपा कलक्टर को ज्ञापन

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत ) बढ़ती बेरोजगारी से परेशान पेंटर संघ ने नाराजगी व्यक्त की है। भारतीय कलाकार संघ उदयपुर ने जिला अध्यक्ष गणेश मेघवाल के मार्ग दर्शन में आज मुख्यमंत्री के नाम जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा। सरकार पेंटरों द्वारा चित्रकारी नही कराए जाने से नाराज है। उनके परिवार पर आर्थिक संकट है। लिहाजा,उदयपुर सहित राजस्थान में बेनर फ्लेक्स,विनाइल,रेट्रो लगाए जा रहे है। ग्राम पंचायत, आंगनवाड़ी केंद्र, स्वास्थ्य विभाग,जल संशाधन केंद्र,पीडब्ल्यूडी के राष्ट्रीय हाइवे पर होर्डिंग और बेनर लगाए गए है। हालांकि जनता तक संदेश पँहुचने से पहले नष्ट हो रहे है। उसकी तुलना में वॉल पेंटिंग सालो भर टिकती है।

प्लास्टिक युक्त बैनरो से पर्यावरण पर असर हो रहा है। फटे बैनर मवेशियों के निवाला बन रहा है,जिसके कारण मवेशियों की अकाल मौत हो रही है। कोरोना महामारी के चलते पेंटरो ने राजस्थान ही नही,पूरे भारत में नि:शुल्क सेवा प्रदान की गई थी। अपने निजी खर्चे से चित्र बनाकर कोरोना की जागरूकता बढ़ाने के लिए सरकार को सहयोग प्रदान किया। जैसे,कोरोना गाइडलाइन का पालन करें, पुलिस प्रशासन का साथ दे ,दूरी बनाए, कोरोना भगाए, सोशल डिस्टेंस का पालन करे, मुह पर मास्क लगाए। उपरोक्त सभी स्लोगन के बैनर बनाकर चौक चौराहा पर लगाए थे। जिससे लोगों मे संदेश पहुंचा था। जबकि पर्यावरण भी दूषित नही हुआ। पेंटीग का काम हमारे परिवार का भरण पोषण का एकमात्र जरिया है।

कला शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्कूल की किताबों में सेलेबस रखे जाने की मांग करते हुए भारतीय कलाकार संघ ने कलक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया है। ज्ञापन में गांव पंयायत और शहरों के चौक चौराहे पर लगे बेनर हटाने की मांग भी कलाकार संघ द्वारा की गई है। हाथ की कलाकृतियों को बढ़ावा देने की अपील की गई है, जिससे पेन्टरों को रोजगार उपलब्ध हो सके। आवागमन में बाधा पैदा नही हो उसके लिए सरकार से पहचान पत्र की भी मांग की है।

जिला अध्यक्ष गणेश मेघवाल के सानिध्य में संभाग अध्यक्ष डीसी परमार, सायरा अध्यक्ष अशोककुमार भाटी, गोगुन्दा ब्लॉक अध्यक्ष मनोहरसिंह, झाड़ोल ब्लॉक अध्यक्ष गोविंद मेघवाल,बडग़ांव ब्लॉक अध्यक्ष, कुराबड़ ब्लॉक अध्यक्ष और पेन्टर लोकेश श्रीमाली, प्रकाश उदयपुर, मोतीलाल, निरंजननाथ उदयपुर आदि ने कलक्टर को ज्ञापन सौंपा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *