मरीजो की घटती संख्या से ग्रामीणों में खुशी की लहर,आज गोगुंदा में 39 कोरोना पॉजिटिव मिले

उदयपुर (कांतिलाल मांडोत) उदयपुर में कोरोना में बढ़ोतरी हो रही है।कोरोना पॉजिटिव मरीज बढ़ रहे है।लोग डरे और सहमे हुए है।आम आदमी ख़ौफ़ के साये मे है।पॉजिटिव केस की रफ्तार कम नही हो रही है। उदयपुर अस्पताल में इलाज के बाद मरीज ठीक भी हो रहे है। सीएमएचओ डॉ दिनेश खराड़ी के नेतृत्व में चिकित्सा विभाग अलर्ट है। जिसकी सराहना बारबार की जाती रही है। कोरोना महामारी का कहर राजस्थान में ही नही बरपा है। पूरे भारत की परेशानी है। राज्य सरकार ऐतिहायत बरतने का सुझाव दे रही है।प्रारंभिक कोरोनाकल में भी इतने भयभीत और निराश नही थे।जितना वर्तमान समय मे नजर आ रहा है।एक साल के दौरान राज्य महामारी से सबसे बुरी तरह प्रभावित हुआ है।
पूरे साल कोरोना के भय से कोई भी सामाजिक या कृषि संबंधी कार्य बराबर पूर्ण नही कर पाया है।गांवो में किसान खेती पर निर्भर है।घर का कोई सदस्य देशावर में नॉकरी करता है तो वे कोरोना महामारी के भय से कई महीनों से अपने वतन में ही है या अपने माता पिता देशावर भेजना नही चाहते है। राज्य में बंदी और कड़े प्रतिबंध जैसे कदमो का आर्थिक पर भारी असर पड़ा है। कोरोना से अर्थव्यवस्था से लेकर समाज के सभी हिस्सों पर पड़ा है। देश की आबादी का तबका संक्रमण की मार झेल रहा है।इससे उपजे हालात से जीवन जोखिम में डाल दिया है।नोकरीपेशा से लेकर रोज कमाने खाने वालों की स्थिति दहनीय हो चुकी है। महामारी के दुष्प्रभावो  ने छोटे बड़े कारोबार की कमर तोड़ दी है।
गत दिन उदयपुर जिला पुलिस प्रशासन ने सामूहिक फ्लैग मार्च निकालकर लोकडाउन का पालन करने के लिए संदेश दिया।उदयपुर जिले के गोगुंदा और सायरा पुलिस ने जिला कलेक्टर और एसपी डॉ राजीव पचार  के निर्देशन में फ्लैग मार्च कर ग्रामीण जनता को लोकडाउन का पालन करने का संदेश दिया।गाइड लाइन का उल्लंघन करने वाले लोगो के साथ पुलिस सख्ती से पेश आएगी।इसलिए अपने घर मे रहे और अपने परिवार के अन्य सदस्यों को घर से बाहर नही जाने दे।सरकार के प्रयास आपके जीवन को बचाने के लिए किए जा रहे है।देश मे सबसे दुखद स्थिती तो यह  है कि लोग भय, ऑक्सीजन और वैक्सीन के अभाव में मर रहे है।इस बात की कल्पना भी नही की  थी कि कोरोना काल की दूसरी लहर में देश की ऐसी स्थिति हो जाएगी
।18 वर्ष  से उपर के युवाओं का टीकाकरण के दायरे में लाना इसलिए भी आवश्यक है कि कोरोना की यह दूसरी लहर की चपेट में आने वालो में अच्छी खासी तादात युवाओ की है।तीसरे फेज का टीकाकरण अभियान इतना व्यापक रूप ले सकेगा कि वायरस की चुनौती छोटी पड़ती जायगी।इस भयंकर महामारी में समाज एकजुट हो गया है।जब जब भारत मे गंभीर समय आया है,समाज एक दूसरे के सहयोग के लिए खड़ा हुआ है।इस कठिन  समय को जीतना होगा।राज्य सरकार युद्ध स्तर पर इससे निपटने के लिए प्रयास कर रही है।लोगो को लापरवाही नही करनी है और लापरवाही करने वालो को टोकना है।
गोगुंदा से लेकर कोटड़ा और सायरा तक सड़के सुनसान है।लोगो की दिनचर्या में कोई आवश्यक कार्य के लिए घर से निकल रहे है।जोकि अस्पताल के लिए एमरजेंसी वाले ही घर  से बाहर निकल रहे है।गोगुंदा में आज 39 कोरोना संक्रमित मिले है।सायरा चिकित्सा अधिकारी आर एस मीणा ने जानकारी देते हुए कहा कि दो दिन से स्थिती कंट्रोल में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *