भारत

देश मे बुलडोजर विवाद से मचा घमासान, राजस्थान में फिर गरमाया बुलडोजर विवाद

यूपी में मुख्यमंत्री योगी को बुलडोजर बाबा का नाम देकर समाजवादी पार्टी ने राजनीति में भूचाल ला दिया है।राजस्थान में करौली में हिंसा की चिंगारी सुलगी थी। देखते देखते देश मे 13 जगह दंगे हिंसा और आगजनी हुई। भारत धर्मनिरपेक्ष देश है। हर एक व्यक्ति को अपने धर्म के तीज त्योहार मनाने का दायित्व है। जहांगीरपुरी की घटना के बाद हिन्दू मुस्लिमों के बीच एक खाई परिलक्षित होती देखी गई है।

जहांगीरपुरी के रहिवासियों की कॉलोनी पर चला बुलडोजर तथाकथित ठेकेदारों को रास नही आया है। जहांगीरपुरी में हिन्दू मुस्लिम की आपसी लड़ाई नही है। जहांगीरपुरी से ताजिया भी निकलते है और हिन्दू धर्मावलंबियों के जुलूस भी निकाले जाते है। अचानक भड़की आगे के पीछे की राजनीति कुछ अलग हो सकती है। जहांगीरपुरी की हिंसा फिरकापरस्ती थी। हिन्दू मुस्लिम से उपर उठकर विचार करते है तो इसके पीछे असामाजिक तत्वो की साजिश लगती है।

धर्म के नाम पर हिंसा आगजनी और तोड़फोड़ से विवाद बढ़ता है। लेकिन इस आग को सुलगाने वाले भाग जाते है जबकि इस हिंसा में निर्दोष मारा जाता है। जिस तरह से देश मे दो धर्मो के बीच विभाजनकारी साजिश रचने वाले दूर खड़े होकर तमाशबीन बनते है। भारत मे सदियों से हिंद्दु मुसलमान के आपसी रिस्तो में कडवाहट घोली जा रही है।दो झगड़ते है तो इसका फायदा तीसरा उठाता है। अब सड़क पर लड़ाई धर्म के नाम पर खुलमखुला होने लगी है।भारत मे अनेक धर्म और संप्रदाय है।आपस की लड़ाई से अपने ही मर मिटते है।हमे संविधान के अनुरूप ढल कर भाईचारे से पेश आने की आवश्यकता है।

राजस्थान में सालासर गेट के बाद मंदिर पर चला बुलडोजर

राजस्थान ने चुरू के सालासर गेट को सरकार ने आदेश जारी कर गिरा दिया था। भाजपा ने सालासर गेट के डिमोलेशन को लेकर बहुत विरोध किया था। सरकार ने फिर से सालासर गेट को नवीनीकरण कर समाज को भेंट किया। अलवर में तीनसौ साल पुराने शिव मंदिर पर बुलडोजर चला कर जमीदोंज कर दिया। धार्मिक रंग देकर राजनीतिक पार्टियां चुनावी मसाला तैयार करती है। लेकिन सरकारे यह भूल जाती है कि जनता अब अनपढ़ और घोसु नही है।भला बुरा जानती है।

अलवर की इस धार्मिक घटना से उपजी सियासी लड़ाई थम नही रही है।इसमें हिंदूवादी संगठनों का आरोप है कि अशोक गहलोत सरकार ने साजिश के तहत मन्दिर को तोड़ दिया है।मन्दिर पर बुलडोजर चला और शिवलिंग को ड्रिल मशीन से तोड़ा गया । भाजपा ने कांग्रेस को तुष्टिकरण का आरोप लगा रही है तो कांग्रेस ने अपनी सफाई में कहा कि गौरव पथ के लिए मन्दिर अड़चन रूप था। गहलोत के एक मंत्री ने मंदिर फिर से बनाने का आश्वासन दिया।

एमपी के खरगोन में भी उपद्रवियों के अवैध जगह पर बुलडोजर चला

रामनवमी जे बाद एमपी के खरगोन में भी असामाजिक तत्वों को सबक सिखाने स्थानीय प्रशासन हरकत में आ गया। अवैध निर्माण को ध्वस्त कर लोगो को कानून में रहने की नसियत दी गई। मामा शिवराजसिंह चौहान ने असामाजिक तत्वों को चुनौती देते हुए कहा कि कोई भी मुगालते में नही रहे कि सबकुछ चलता है। अवैध कार्य के लिए सरकार सख्ती से पेश आएगी।

इन घटनाओ के पीछे आगामी तीन राज्य और केंद्र में चुनाव की बदौलत हिन्दू और हिन्दू मंदिरों पर हमला कर देश का माहौल बिगाड़ा जा रहा है। हिन्दू और मुस्लिम के बीच जहर घोलने वाले समाज मे सक्रिय है। कांग्रेस का आक्रामक रवैया ठीक नही है।भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कांग्रेस पर आरोप लगाकर जहांगीरपुरी का बदला लेने की बात कही है।

कांग्रेस ने पलटवार करते हुए कहा है कि अलवर के रायगढ़ में नगरपालिका में भाजपा का बोर्ड है। उसी ने यह कार्यवाही की है। राजस्थान में अब तक तीन मन्दिर टूट चुके है।भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पुनिया ने 300 साल पुराने मंदिर टूटने पर खेद जताया और उनकी टीममौके पर भेजकर रिपॉर्ट पेश करेगी।

कांग्रेस और भाजपा में चुनावी सरगर्मियां

कांग्रेस या भाजपा अपने वोट बैंक को सुरक्षित रखने के लिए मतदाताओ मनवाने के लिए ये सब करती है। भाजपा कांग्रेस पर और कांग्रेस भाजपा पर आरोप लगाती रहती है।किसी भी दल को देश मे बढ़ती महंगाई की फिक्र नही है।पेट्रोल डीजल और खाद्द सामग्री के बढ़ते दामो के लिए लड़ाई नही करना है। गरीबो की स्थिति खराब होती जा रही है। किसी को कोई परवाह नही है। अपने वोट बैंक और अपनी तरक्की में कमी नही आनी चाहिए।

बढ़ती मुद्रास्फीति पर ध्यान नही

देश मे बढ़ती मुद्रास्फीति से जनता परेशान है।देश में उत्पादन की कमी के चलते मांग बढ़ रही है। बढ़ती जनसंख्या की वजह से भी मुद्रास्फीति पर प्रभाव पड़ता है।मांग बढ़ती है उसके सामने माल की खपत नही होती है।

देश आयात को भी कम करने का विचार करे क्योकि विदेशी मुद्रा की कमी से भी मुद्रास्फीति में वृद्धि होती है।रूस और यूक्रेन की जंग में भी अंतराष्ट्रीय बाजारों में माल की कीमतों में वृद्धि हो रही है। मेक इन इंडीया और स्किल इंडिया की यह केंद्र सरकार की महत्वपूर्ण योजना के तहत उत्पादन को बढ़ावा मिल सकता है। काला बाजारी के खिलाफ भी मुहिम छेड़ी जानी चाहिए।ब्याज दरों में कमी करऔर विमुद्रिकरण द्वारा भी मुद्रास्फीति को नियंत्रण कर सकती है।

सरकारे समस्याओं पर ध्यान दे

राजस्थान में अनेक समस्याओं से जूझ रही जनता को राहत देने के लिए सरकार उपाय बनाए। भारत मे जाति मजहब के झगड़े में निर्दोष की बलि चढ़ती है। कोई नेता किसी विवाद को लेकर चिंताग्रस्त नही रहता है। शिक्षा,पेयजल और बिजली संकट आदि मूलभूत सुविधा है। लोगो को स्वच्छ पेयजल नही मिलता है। गरीब और आदिवासी बहुल क्षेत्र में कोसो दूर पानी लाने के लिए महिलाएं जाती है।

राज्य में भीषण गर्मी के कारण पेयजल संकट मंडरा रहा है।गांवो में आठ घन्टे बिजली कटौती की जा रही है। सारे दिन ट्रिपिंग की समस्या से जनता का हाल बेहाल है।स्कूलो में टीचर की उपलब्धता से शिक्षण जगत प्रभावित हो रहा है।राजस्थान में हर गांव में स्कूलों को क्रमोन्नत करने की होड़ लगी है। लेकिन जहा बच्चे नही है वहा टीचर है और जहा शिक्षक है वहा बच्चे की कमी है।

गहलोत और पायलट खेमा आमने सामने

राजस्थान की सियासी खींचतान दिल्ली पहुंच गई।सचिन पायलट ने सोनिया गांधी से मुलाकात कर राजस्थान में इस बार मुख्यमंत्री बनाने की सिफारिश की है। अशोक गहलोत ने तंज कसते हुए कहा कि उनके साथ 35 विधायक है और कभी सुनता हूँ कि 45 विधायक है। लेकिन मेरे पास एक ही विधायक है और मैं स्वयं हूँ और आपके सामने बैठा हूँ।

राजस्थान में सियासी वातावरण बिगड़ा तब हम सभी विधायक दो महीने तक होटल में रुके थे। 10 से 12 करोड़ की ऑफर की थी। लेंकिन वो सत्यतापूर्ण आचरण करने में सफल हुए। मैं तीन बार मुख्यमंत्री बन चुका हूं।अशोक गहलोत ने भाजपा पर सरकार तोड़ने का भी आरोप लगाया।

( कांतिलाल मांडोत )

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button