एलएंडटी ने सूरत के अस्पतालों में पहली दो मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन जनरेशन यूनिट वितरित की

सूरत। भारत कोरोना वायरस की दूसरी लहर से जूझ रहा है। इसे देखते हुए एलएंडटी ने आज सूरत के अस्पतालों में दो ऑक्सीजन जनरेटर यूनिट दी। एसएमआईएमईआर हॉस्पिटल और न्यू सिविल अस्पताल दोनों को 22 ऑक्सीजन जनरेटर में से शुरूआती दो जनरेटर दिए गए जो 700 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन का उत्पादन करने में सक्षम हैं। ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को सांसद व गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल, किशोर कानानी, राज्य मंत्री-स्वास्थ्य और परिवार कल्याण चिकित्सा शिक्षा, सांसद दर्शना जरदोश, मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणि, कलेक्टर डॉ.धवल पटेल और जिला भाजपाध्यक्ष संदीप देसाई, विधायक जंखना पटेल, मुकेश पटेल की मौजूदगी में भेजा गया। इन यूनिट को डॉ. रागिनी वर्मा, चिकित्सा अधीक्षक, न्यू सिविल हॉस्पिटल और डॉ. वंदना देसाई, चिकित्सा अधीक्षक, एसएमआईएमईआर हॉस्पिटल को सौंपा जाएगा।

भारत सहित दुनिया के विभिन्न हिस्सों से विभिन्न वस्तुओं से तैयार 22 ऑक्सीजन जनरेटर यूनिट्स का निर्माण, संयोजन और परीक्षण एलएंडटी के हजीरा मैन्युफैक्चरिंग कॉम्पलेक्स में किया जा रहा है। फिर इन्हें भारत के उन अस्पतालों में भेजा जा रहा है जो गंभीर ऑक्सीजन की कमी का सामना कर रहे है। अस्पतालों के लिए एलएंडटी के इस दीर्घकालिक समाधान से अगले 10-15 वर्षो के लिए देश में मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन की मांग को पूरा करने की उम्मीद है।

एस.एन. सुब्रह्मण्यन, सीईओ और एमडी एलएंडटी ने कहा स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों को मजबूत करने के महत्व का अब हमें पहले से कहीं अधिक अंदाजा हो गया है। न केवल वर्तमान स्वास्थ्य आपातकाल के दौरान लोगों की जान बचाने के लिए बल्कि भविष्य में ऐसी आपात स्थितियों का सामना करने लिएअस्पतालों को बेहतर तरीके से तैयार करने में मदद करने के लिए एलएंडटी स्थानीय और राष्ट्रीय स्तर पर अधिकारियों के साथ मिलकर काम करने की अपनी प्रतिबद्धता पर कायम है। ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हर नागरिक को इस महामारी से उबरने के लिए आवश्यक चिकित्सा बुनियादी ढांचे की मदद मिल सके।

प्रत्येक यूनिट में एक कंप्रेसर, एयर इनटेक विसल, ड्रायर, ऑक्सीजन जनरेटर और ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक होता है। यह कुल 1,750 ब्रेड वाले अस्पतालों या चिकित्सा सुविधाओं की आवश्यकताओं को पूरा कर सकता है। यूनिट प्लग-एंड-प्ले सिद्धांत पर काम करती हैं। एक बार जब सभी घटक तैयार हो जाते हैं, तो कंप्रेसर हवा को कुछ ही मिनटों में एक विशेष दबाव तक पहुंचा देता है। इसके बाद जनरेटर पाइप में ऑक्सीजन पंप करना शुरू कर देता है।

एलएडटी ने चिकित्सा उपकरणों की कमी को तुरंत दूर करने के लिए दक्षिण गुजरात में 24 वेंटिलेटर की आपूर्ति की है। कंपनी ने अपने कुछ परियोजना स्थलों में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर वितरित किए हैं, जहां कामगार रह रहे हैं। नर्सिंग स्टाफ की मदद से आपात स्थिति से निपटने की व्यवस्था और ड्राइवर के साथ मेडिकल मोबाइल यूनिट कई स्थानों पर हमेशा उपलब्ध रहती है। कंपनी ने अपने कामगारों के टीकाकरण के लिए स्थानीय अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों के साथ सहयोग किया है। एलएंडटी साइटों पर अधिकांश कामगारों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *