फ्रेंडशिप क्लब के नाम पर ठगी करने वाला मुंबई का युवक-युवती गिरफ्तार

सूरत के सगरामपुरा के श्रमजीवी युवक को एनआरआई लड़कियों से दो घंटे बात करने और उन्हें खुश रखने पर 25 से 30 हजार रुपये देने का लालच देकर अलग-अलग चार्ज के तौरपर 69,410 रूपए की धोखाधड़ी करने वाले युवक-युवती को साइबर क्राइम पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

सूरत के सगरामपुरा इलाके में रहने वाले और दिहाड़ी मजदूर के रूप में काम करने वाले 27 वर्षीय अजय राठौर ने एक छोटा सा विज्ञापन देखा जिसमें लिखा था कि वह प्रतिदिन 20,000 रुपये से 30,000 रुपये कमा सकते है। बाबूभाई नाम के एक व्यक्ति से बात करते हुए उसने कहा, वह एनआरआई युवतियों के साथ आपकी मुलाकात कराएंगा और दो घंटे बात कर खुश करने पर 20 से 30 हजार रूपए मिलेंगे। उसने और सोनिया ने गेट पास, गेस्ट हाउस बुकिंग का चार्ज के लिए 69,410 रुपये जमा कर किसी से मिलने न आने पर ठगी की थी।

अजय ने दो मार्च को साइबर क्राइम थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। साइबर क्राइम पुलिस ने इन्टेरियर ठेकेदार राम आशीष सियाराम पासवान (उम्र 39, निवासी बी/603, मुकेश अपार्टमेंट, राममंदिर रोड, बेवा कॉलेज के पास, एमबी एस्टेट, विरार (पश्चिम), पालघर, महाराष्ट्र मूल बिहार)और सुषमा रमेश शेट्टी (उम्र 32, निवासी 308, जीवनज्योत अपार्टमेंट, विरार रोड, बोरेगांव नाका, नालासोपारा (पूर्व), पालघर, महाराष्ट्र) के खिलाफ मामला दर्ज गिरफ्तार किया है।

साइबर क्राइम पुलिस ने उसके पास से 6 मोबाइल फोन, अलग-अलग बैंक खातों के 9 चेकबुक, पांच एटीएम कार्ड जब्त किए हैं। फ्रेंडशिप क्लब के नाम पर ठगी करने वाला रामआशीष पिछले 12 साल से इस तरह के अपराधों में लिप्त है। पता चला है कि उसके 11 बैंक खातों में 1,67,04,000 रुपये का लेनदेन हुआ है। उसके अन्य बैंक खाते की भी जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

konya escort