बिजनेस

बॉम्बे चैंबर ने 2000 एसएमई सदस्यों को 2 से 10 गुना तक बढ़ाने के उद्देश्य से वाधवानी फाउंडेशन के साथ साझेदारी की

 ‘एसएमई ग्रोथ ड्राइव’ एक रणनीतिक गठबंधन है, जो योग्य एमएसएमई को अगले चरण के विकास में मदद करेगा

मुंबई, 20 सितंबर 2022: महामारी के कारण एमएसएमई क्षेत्र को भारी नुकसान हुआ, लेकिन 2020 और 2021 में अस्तित्व की लड़ाई जीतने के लिए इस क्षेत्र ने अदभुत साहस का परिचय दिया और इनमें से कई ने कोविड-19 के प्रतिकूल प्रभावों से ऊपर उठने में सफलता पाई।

आज, जब इनमें से कई एसएमई तेज राजस्व और मार्जिन वृद्धि के संकेत दे रहे हैं, वैसी स्थिति में विशेषज्ञ हस्तक्षेप/सलाह/संस्थागत समर्थन उन्हें विकसित करने की क्षमता के साथ सशक्त बनाने के मामले में बड़ा अंतर पैदा कर सकता है।

यही बात कई छोटी मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों पर भी लागू होती है जो मझोले आकार के उद्यमों के विकास के मुकाबले पीछे हो गई हैं। इस पृष्ठभूमि के साथ, देश के सबसे पुराने चैंबर्स में से एक और वाणिज्य और व्यापार के विकास का समर्थन करने में अग्रणी बॉम्बे चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (बीसीसीआई) ने वाधवानी एडवांटेज (वाधवानी फाउंडेशन की एसएमई के नेतृत्व वाली पहल; https://advantage.wfglobal.org/) के साथ साझेदारी की है।

2019 में शुरू हुआ महत्‍वपूर्ण और अभिनव एसएमई केंद्रित कार्यक्रम वाधवानी एडवांटेज ‘एसएमई ग्रोथ ड्राइव’ लॉन्च करेगा ताकि बीसीसीआई एसएमई के 2000 मजबूत सदस्यों को 2 गुना से 10 गुना तक वृद्धि करने में मदद दी जा सके।

एसएमई ग्रोथ ड्राइव एक गो-टू डेस्टिनेशन पहल है, जो वाधवानी एडवांटेज के विशेषज्ञों के सहयोग से बीसीसीआई के एसएमई सदस्यों को उच्च गुणवत्ता वाले परिवर्तन परामर्श, सीखने और नेटवर्किंग की पेशकश प्रदान करती है। यह पहल विकास की तलाश में जुटी और पेशेवर बनने के लिए तैयार व सीखने के लिए प्रतिबद्ध एसएमई उद्यमियों और शीर्ष प्रबंधन को चुनेगी और उन्हें तैयार करेगी।

इस पहल के बारे में बात करते हुए बीसीसीआई के महानिदेशक संदीप खोसला ने कहा, “पिछले दो वर्षों में एसएमई व्यवसायों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। रिकवरी प्रक्रिया में उनका समर्थन करने के लिए, बॉम्बे चैंबर ने कई परियोजनाओं की शुरुआत की है।

ये परियोजनाएं उन बड़े निगमों के हमारे मजबूत सदस्यता आधार का लाभ उठाती हैं जोकि 2000 बीसीसीआई एसएमई सदस्यों का मार्गदर्शन करने में अपनी विशेषज्ञता प्रदान कर सकते हैं। वाधवानी फाउंडेशन के साथ हमारी साझेदारी हमारे एसएमई सदस्यों का समर्थन करने की दिशा में एक कदम है।”

वाधवानी फाउंडेशन में वाधवानी एडवांटेज के एक्‍जीक्‍यूटिव वाइस प्रेसिडेंट  समीर साठे ने इस साझेदारी के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा, “हम वाधवानी एडवांटेज के माध्यम से अपने एसएमई सदस्यों की मदद करने के लिए अपनी तरह की इस अनूठी पहल को शुरू करने के लिए बीसीसीआई के साथ साझेदारी करने के लिए उत्साहित हैं।

यह एक अग्रणी वैश्विक कार्यक्रम है जिसमें सशक्तिकरण, परामर्श और व्यावहारिक सहयोग, एसएमई के ज्ञान, समय, प्रतिभा और वित्त पोषण के मुद्दों को समग्र रूप से हल करना है। हम एसएमई लाभार्थियों को एक दूसरे की ताकत का लाभ उठाकर, दूसरों द्वारा अनुसरण की जाने वाली अनूठी केस स्‍टडी का निर्माण करके अपेक्षित परिणाम देने की उम्मीद करते हैं।”

एमएसएमई समिति, बीसीसीआई के चेयरमैन और निकेम सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्‍टर श्री राजन राजे ने कहा, “एमएसएमई राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। यह मध्यम और बड़े उद्यमों को सहारा देता है। इसलिए यह 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इस प्रकार एमएसएमई क्षेत्र के लिए आवश्यक कौशल सेट और व्यावसायिकता प्राप्त करना बहुत महत्वपूर्ण है।

बीसीसीआई ने इसे महसूस किया और इस क्षेत्र को विश्वसनीय समर्थन देने की पहल की। वाधवानी फाउंडेशन के साथ उनकी साझेदारी इस दिशा में पहला कदम है। वाधवानी फाउंडेशन, अपने विशेषज्ञों के पूल के साथ, इस पॉलीक्लिनिक को प्रभावी ढंग से चलाएगा! ”

बीसीसीआई और वाधवानी एडवांटेज (डब्ल्यूए) एसएमई ग्रोथ ड्राइव के निम्नलिखित लाभों को लाने के लिए अपनी-अपनी मजबूती का संयोजन करेंगे, जो अन्य उपलब्ध किसी भी अन्य समर्थन प्रणाली से काफी अलग और विशिष्ट हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button