पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ “साइकल मार्च”

कांग्रेस नेता हिरासत में लिए गए

शनिवार को सूरत शहर कांग्रेस द्वारा पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों व महंगाई के खिलाफ साइकल मार्च का आयोजन किया गया था। इस दौरान कांग्रेस के कई नेताओं व कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में लिया था। रेलवे स्टेशन से साइकल मार्च लेकर कलेक्टर कचेरी की तरफ जा रहे कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं को रिंगरोड स्थित मान दरवाजा पर पुलिस ने हिरासत में ले लिया था इस दौरान साइकल मार्च कर रहे कांग्रेसियों और पुलिस के बीच घर्षण भी देखने को मिला।

हिरासत में लिए गए युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शान खान ने भाजपा सरकार को निशाने पर लेते हुए कहा कि अब इस देश मे विरोध करना भी अपराध हो गया हैं। भाजपा के इशारे पर पुलिस शांतिपूर्ण साइकल मार्च को रोक कर विपक्ष व जनता के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन करने का काम कर रही हैं। आज जब देश की जनता पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती कीमतों व महंगाई से त्रस्त हैं तब भाजपा सरकार पेट्रोल-डीजल की कीमतें व महंगाई कम करने के बजाय जनवेदना का गला घोंटकर लोकतंत्र की हत्या करने का काम कर रही हैं।

आगे शान खान ने कहा कि जब केंद्र में UPA की सरकार थी तब अंतरराष्ट्रीय महंगा बाज़ारो में कच्चे तेल की कीमतें 106 से 108 डॉलर प्रति बैरल हुआ करती थी तब देश मे पेट्रोल 70 से 73 रुपये और डीजल 58 से 60 रुपये में बेचा जाता था आज जब अंतर्राष्ट्रीय बाज़ारो में कच्चे तेल की क़ीमत मात्र 73 से 75 डॉलर प्रति बैरल हैं तब देशवासियों को पेट्रोल और डीजल दोनों ही 100 रुपये लीटर बेचकर उन्हें लूटने का काम किया जा रहा हैं।

रिंगरोड से युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता शान खान, सुरेश सोनवणे, गोपाल पाटिल, पूर्व पार्षद असलम सायकलवाला, अशोक पिम्पले, आशीष राय, रोशन मिश्रा, जमाल अंसारी, सुभाष इनामदार, मुकद्दर, हरीशकुमार सूर्यवंशी, सुरेशभाई सोनवणे, कुणाल सूर्यवंशी,  सुनल शेख, शशि दुबे, हरेश परमार, आधार पाटिल, जयेशभाई भट्ट (महाराज), संतोष शुक्ला, किशोर सिंधिया, अभिषेक सूर्यवंशी,अजय राणा, धर्मेश राणा, आसिफ शेख, राजमणि यादव, शैलेश राजपूत उपस्थित थे। अन्य नेताओं व कार्यकर्ताओं को पुलिस द्वारा हिरासत में लेकर सलाबतपूरा थाने ले जाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *