प्रादेशिक

मंत्री मांगीलाल गरासिया ने गणगौर माता की की पूजा अर्चना,आज तीसरे दिन मेले का समापन

उदयपुर ( कांतिलाल मांडोत )। गोगुन्दा गणगौर के मेले में आज तीसरे दिन समापन वेला के मौके पर भारी भीड़ देखने को मिली। उल्लेखनीय है कि दो वर्ष से कोरोना महामारी के कारण गोगुन्दा का गणगौर मेला निरस्त किया गया था। इस वर्ष सैकड़ो गांवो से मेला देखने के लिए लोग का आवागमन हुआ। गणगौर मेले का क्रेज बढ़चढ़ कर युवाओ को आकर्षित कर रहा था।

आज शाम तक लोगो का हुजूम उमड़ा था।नई पोशाक में सजधज कर आई आदिवासी महिलाओं ने मेले में खरीददारी की गई।पूर्व मंत्री मांगीलाल गरासिया ने गणगौर माताजी की पूजा अर्चना कर मनोकामनापूर्ण करने का आशीर्वाद ग्रहण किया। पर्यटन विभाग की तरफ से सांस्कृतिक कार्यक्रम का भव्य आयोजन किया गया। दूर दराज से लोगो की आवाजाही देर शाम तक चलती रही।

आज तीसरे दिन मेले की समाप्ति तो हो चुकी है,लेकिन कल तक मेले का ठाठ रहेगा। मेले के दौरान आदिवासी समाज की भारी भीड़ रही।महिलाए सजधज कर मेले में विभिन प्रकार की चीज वस्तुओं की खरीदी की गई। मेले में भव्य आतिशबाजी की गई। मेले में झूले चकरी मनोरंजन का प्रमुख साधन रहा। मौत का कुआ का भारी आकर्षण था।

महिलाओ और युवतियों ने टेटू बनवाने का क्रेज बरकरार था।गोदना हर मेले का विशिष्ट हिस्सा होता है,लेकिन अब गोदना टेटू के रूप में रूपांतरित हो चुका है। तीन दिवसीय मेले में गोगुन्दा पुलिस मुस्तैद नजर आई। पुलिस प्रशासन ने व्यापक रूप से ग्रस्त बढाकर उपद्रवियों पर नजर रखी।जेब कतरो का भी लोग शिकार हुए। एक महिला के हाथ मे कपड़े के बेग को काटकर नकदी और मोबाइल चुराने की घटना भी सामने आई।मेला खासकर शांतिपूर्ण ढंग से पूर्ण हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button