सूरत

वर्क परमिट वीजा के बदले टूरिस्ट वीजा देनेवाले एक्सएल इंटरनेशनल के खिलाफ शिकायत, दो जन गिरफ्तार

हजीरा की ओएनजीसी कंपनी में ठेके पर काम करने वाले एक युवक समेत पांच लोगों को दुबई और यूक्रेन का वर्क परमिट देने का लालच देकर 26.41 लाख रुपये हड़पने वाले डुमस रोड के लक्जुरिया बिजनेस हब में एक्सएल इंटरनेशनल के तीन में से दो भागीदारों केा उमरा पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार वेसु में राहुलराज मॉल के पीछे सुमन मल्हार के अपार्टमेंट में रहता है और हजीरा की ओएनजीसी कंपनी में कॉन्ट्राक्ट पर नौकरी करने वाला मुकेश दलपत परमार ( उम्र 26) ने इंस्टाग्राम पर वर्क परमिट और वीजा विज्ञापन पढ़ा। डुमस रोड के लक्जुरिया बिजनेस हब में एक्सएल इंटरनेशनल के नाम से आफिस धारक धार्मिक माघवाणी, राजेंद्र तलसारिया और हेमल ने पांडवों से संपर्क किया।

तीनों ने मुकेश को दुबई का वर्क परमीट वीजा दिलवाने का झांसा देकर 1.83 लाख रूपये लिए। लेकिन तय समय में वर्क परमीट वीजा के बजाय सिर्फ एक महीने का टूरिस्ट वीजा दिलवाया। जिससे मुकेश ने 1.83 लाख रुपये की मांग करने पर तीनों ने उसे धमकाया और रातोरात आफिस को ताला लगाकर फरार हो गए। दूसरी ओर एक्सएल इंटरनेशनल के भागीदारों ने सिर्फ मुकेश को ही नहीं बल्कि अन्य चार जनों को भी वर्क परमीट वीजा दिलाने के बहाने कुल 26.41 लाख रूपये ऐठ लिए थे।

हालांकि उमरा पुलिस ने ठग के गिरोह के खिलाफ मामला दर्ज कर राजेंद्र रावजी तलसरिया ( निवासी ए 904, सर्जन पैलेस, भरीमाता रोड, सिंगणपोर) और हेमल हिपेश पांडव ( उम्र 117, 118, माधवानंद सोसाइटी, धनमोरा सर्कल, कतारगाव) को गिरफ्तार किया है। के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जबकि धार्मिक माधवानी को तलाश रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button