शिक्षा-रोजगार

नवसर्जन हिंदी विद्यालय का शत-प्रतिशत परिणाम

सूरत। पालनपुर जकातनाका के पास संत तुकाराम मंडल-2 में नवसर्जन हिंदी विद्यालय का एचएससी कक्षा-12 का परिणाम शत-प्रतिशत परिणाम आने पर विद्यालय व अभिभावकों के साथ-साथ विद्यार्थियों में भी खुशी की लहर दौड़ गई है। स्कूल के ए-1 ग्रेड में 6 और ए-2 ग्रेड में 8 छात्रों के साथ 100 प्रतिशत परिणाम हासिल किया है।

नवसर्जन हिंदी विद्यालय मध्यम और गरीब परिवार के लिए वरदान है। राज्य के बाहर से अपनी आजीविका के लिए काम करने वाले माता-पिता के बच्चे पढ़ाई करते हैं। स्कूल बच्चों की शिक्षा के लिए समर्पित है। स्कूल में पहले से ही आयोजन कर बच्चों को शिक्षित किया जाता है। कई छात्र छोटे कमरों में रहते हैं। पढ़ने में बहुत परेशानी होती है। लेकिन स्कूल स्टाफ द्वारा छात्रों की परेशानी को दूर कर स्कूल में पढ़ने, लिखने, पेपर प्रैक्टिस जैसे कार्यों के लिए अधिक समय आवंटित किया जाता है।

विद्यालय के संचालक जयेश सिंह परमार, आचार्य रूपालीबेन पाटिल, पर्यवेक्षक पीयूषभाई शर्मा और स्टाफ बहुत मेहनत करते हैं, जिसका परिणाम आज मिल रहा है। स्कूल स्टाफ योग्य और अनुभवी है ताकि छात्रों को बहुत अच्छी शिक्षा मिले। सूरत शहर के रांदेर-अडाजन क्षेत्र को हिंदी माध्यम स्कूल का नंबर 1 का दर्जा प्राप्त है।

विद्यालय के ए 1 ग्रेड आने वाले छात्र में सिंह अभिषेक दिनेशभाई ए-1 (पीआर-99.78) जिनके पिता एक रिक्शा चालक हैं। रावत मनीषा मनोजभाई ए-1 – पीआर 99.72 के पिता पेंटर का काम करते हैं। यादव दशरथ श्यामबली ए-1 पीआर 99.69 के पिता सुतारीकाम करते हैं। सोनी साक्षी श्याम बहादुर-ए-1 पीआर 99.66 के पिता ठेले पर कपड़े बेचते हैं। कुमावत रवीना श्रवणकुमार ए-1 पीआर 99.66 के पिता टाइल मार्बल के कारीगर हैं। प्रजापति रचना निर्मलभाई ए-1 पीआर 99.47 के पिता टाइल मार्बल के कारीगर हैं। ऐसे में भी छात्रों ने उच्च अंक हासिल किए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button