सूरत

पाटीदार समाज सम्मान समारोह में परमाणु सहेली ने किया जागरूकता आव्हान

समस्त पाटीदार समाज सम्मान समारोह में विशिष्ट गणमान्य श्री पदम भूषण सच्चिदानंद महाराज व पदम श्री सावजी भाई ढोलकिया व समाजों के अध्यक्षों व विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों से पधारे उद्योगपतियों के समक्ष भारत की परमाणु सहेली डॉ नीलम गोयल ने सूरत के 75 लाख लोगों को जागरूक करने के लिए आह्वान किया है। समस्त भारतवर्ष में औद्योगिक क्षेत्रों की स्थितिया गंभीर है। इनके पास स्वच्छ व व्यापारिक दृष्टि से प्रतिस्पर्धात्मक बिजली की सतत सप्लाई का स्थायी स्त्रोत नहीं है।

दिनों दिन कोयले का संकट बढ़ता ही जा रहा है व महंगे दामों की वजह से बिजली बनाने में कोयले की आपूर्ति में समस्या आ रही है , साथ ही पर्यावरण प्रदूषण के चलते कोयले से बिजली बनाने पर वैश्विक प्रतिबद्ध का शिकंजा हर दिन गहराता जा रहा है। लिहाजा, भारत को कोयला आधारित बिजलीघरों के विकल्प का उजागर करना ही पड़ेगा। जिस प्रकार मोरबी की 90% फैक्ट्रियां बंद हो गई थी एनजीटी ने पर्यावरण प्रदूषण की वजह से कोयला बंद कर दिया। ऐसी समस्या आने वाले समय में सूरत में ना आए, इसके लिए समय रहते सूरत में 500 – 500 मेगावाट के दो स्मार्ट मॉड्यूलर स्थापित होने होंगे।

परमाणु सहेली ने बताया कि सभी उद्योगपतियों, सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं, समाजों के साथ मिलकर यह जानना होगा कि कोयले की कमी व पर्यावरण प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए सभी को एकमत होकर परमाणु बिजलीघरो के लिए सकारात्मक माहौल बनाना होगा। सूरत में स्मार्ट मॉड्यूलर रिएक्टर बिजली बनाने के साथ-साथ हाइड्रोजन ऊर्जा का भी उत्पादन करेगा, जो ट्रांसपोर्टेशन में आवश्यक पेट्रोल-डीजल का पुख्ता एवं अपेक्षाकृत विकल्प स्थापित होगा। डायमंड उद्योग में LGD (लैब ग्रोन डायमंड) तकनीकि में लैब में उत्पादित हीरो के मनचाहे रंग के लिए आवश्यक उष्मा ऊर्जा व आयन निवेश का कार्य भी इस स्मार्ट मॉड्यूलर संयंत्रों में हो सकेगा।

परमाणु सहेली ने बताया कि यदि भारत देश को ऊर्जा के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना है तो कोयला, पेट्रोल- डीजल के विकल्प के रूप में परमाणु ऊर्जा को बढ़ावा देना होगा। परमाणु इंधन के रूप में सबसे ज्यादा थोरियम भारत के पास है लेकिन भारत में परमाणु ऊर्जा से सबसे कम बिजली बनाई जाती है। जबकी फ्रांस में 75%, अमेरिका में 21%, जापान में 35% और भारत में केवल 2.5 प्रतिशत ही परमाणु ऊर्जा से बिजली बनाई जाती है। समस्त पाटीदार समाज के अध्यक्ष श्री वेलजीभाई सेठा व समस्त पाटीदार समाज के आगीवान लोगों ने परमाणु सहेली का सम्मान किया वह परमाणु सहेली के इस महा अभियान में सभी ने अपना समर्थन दिया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button