शिक्षा-रोजगार

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सूरत “और” सनराईज शिक्षण संस्थान ” के संयुक्त उपक्रम से नि:शुल्क शिक्षा का समर कैंप

कोरोना काल में कई छात्रों की प्राथमिक शिक्षा की नींव कच्ची रह गई है, ऐसे गरीब और मध्यम वर्ग के बच्चों/छात्रों के लिए मुफ्त शिक्षा का समर केम्प “जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण -जिला न्यायालय सूरत” और “सनराईज शिक्षण संस्थान ” के संयुक्त उपक्रम से दो माह से उधना में चलाया जा रहा है।

इस समर कैंप में बच्चों को गुजराती-मराठी वर्णमाला, पहाड़े , गुजराती व्याकरण, अंग्रेजी व्याकरण, गुजराती अंक आदि जैसी प्राथमिक शिक्षा के साथ-साथ छात्र पढ़ने-लिखने में सक्षम होने चाहिए, इस उद्देश्य से साक्षीबेन निवलकर, दिपीकाबेन शर्मा, पायलबेन गुल्हाणे, कौशलभाई बागडे, प्रदिपभाई शिरसाठ आदि जैसे उत्कृष्ट शिक्षको व्दारा प्रोजेक्टर के उपयोग से लिखित और मौखिक व्यावहारिक रूप से पढ़ाया जा रहा है। तथा खेलकूद के साथ-साथ विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से बच्चो को शिक्षा दी जा रही है |

इसके अलावा छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए सामाजिक एवं सांस्कृतिक गतिविधियों के साथ-साथ जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, सूरत के पैनल ने श्री भारतीबेन मुखर्जी, रिलेशभाई लिम्बाचिया एवं प्रदीप शिरसाठ को शिक्षा का अधिकार अधिनियम- 2005 , हमारे अधिकारों एवं कर्तव्य ,सुकन्या योजना, अभयम, एन्टी , मोबाइल के उपयोग और दुरुपयोग, बाल सुधार गृह , साईबर अपराध आदि जैसे विषय पर भी युवाओ को जागृत किया गया तथा विभिन्न सरकारी योजनाओ की जानकारी बच्चो को दी गई |

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button